टिप्पणी:अमेरिका द्वारा चीन के खिलाफ़ लगाए गए आरोप निराधार

2018-10-05 19:38:00

अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने 4 अक्तूबर को वाशिंगटन में चीन की देश-विदेश नीति पर निराधार आरोप लगाया। इस के प्रति चीनी विदेश मंत्रालय ने जवाब देते हुए कहा कि पेंस का बयान बिल्कुल निराधार है, चीन इस का डटकर विरोध करता है।

पेंस के बयान देने से पहले ही अमेरिका ने चीन के प्रति बिल्कुल नयी नीति बनाने का दावा किया। लेकिन पेंस ने चीन के खिलाफ जो आरोप लगाया है, वह बिल्कुल पुराना है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो 8 अक्तूबर को चीन की यात्रा करेंगे और चीन-अमेरिका संबंधों तथा समान रूचि वाले सवालों पर चीनी नेताओं के साथ विचार-विमर्श करेंगे। उनकी चीन यात्रा से पहले ही चीन की आलोचना करने का उद्देश्य राजनीतिक हितों की तलाश करना है।

लेकिन चीन को दूसरे देशों के अन्दरूनी मामलों में हस्तक्षेप करने को लेकर कोई रुचि नहीं है। चीन के सामने तीन करोड़ गरीब लोगों को गरीबी से छुटकारा दिलाने का काम है, चीन के पास दूसरे देशों के अन्दरूनी मामले में टांग अड़ाने का वक्त भी नहीं है। अमेरिकी सीएनएन और रॉयटर जैसी विदेशी मीडिया ने भी कहा कि अमेरिका द्वारा चीन पर लगाये गये आरोप का सबूत नहीं है। हाल ही में चीन सरकार ने चीन व अमेरिका के बीच आर्थिक व व्यापारिक संघर्ष के तथ्यों और चीन के रुख पर श्वेत पत्र प्रकाशित किया। जिसमें आंकड़ों और तथ्यों से चीन-अमेरिका आर्थिक संबंधों के आपसी लाभ वाले तत्व का सारांश किया गया है। और इस बात की पुष्टि की गयी है कि सहयोग करने से चीन, अमेरिका और यहां तक सारी दुनिया के लिए एक मात्र सही चयन है।

वर्ष 2017 में चीन व अमेरिका के बीच व्यापार रकम 5 खरब 83.7 अरब अमेरिकी डॉलर तक जा पहुंची । जो वर्ष 1979 की तुलना में 233 गुना अधिक है। दोनों देशों ने आतंकवाद विरोधी, इंटरनेट, अंतरिक्ष और उग्रवाद आदि वैश्विक समस्याओं के समाधान में सहयोग की बड़ी संभावना मौजूद है। चाहे अमेरिकी सरकार चीन के प्रति अपनी नीतियों में कोई भी बदलाव क्यों न लाए, चीन की अमेरिका नीति एक ही है यानी एक दूसरे का समादर करना और सहयोग करने से उभय जीत हासिल करना। अमेरिका की वर्तमान सरकार में चीन को अच्छी तरह जानने वाले व्यक्ति नहीं हैं। अमेरिका जब दूसरे देशों को अच्छी तरह समझने और समादर करने में सक्षम होगा, तब वह सही माइने में एक महान देश बन सकेगा।

( हूमिन )

  

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी