कोरिया प्रायद्वीप के दोनों पक्षों ने एक साथ 4 अक्तूबर घोषणा की 11वीं वर्षगांठ मनायी

2018-10-06 17:00:00

डीपीआरके यानी उत्तर कोरिया ने 5 अक्तूबर को प्योंगयांग में उत्तर-दक्षिण संबंध विकास व शांति घोषणा यानी अक्तूबर 4 घोषणा की 11वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में एक सम्मेलन आयोजित किया। उत्तर कोरिया की सर्वोच्च जन सभा के अध्यक्ष किम योंग-नाम और दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्री चो म्योंग-ग्योंन समेत दोनों पक्षों के प्रतिनिधियों और कुछ विदेशी सूत्रों ने सभा में भाग लिया।

किम योंग-नाम ने कहा कि 11 साल पहले दोनों पक्षों के नेताओं ने ऐतिहासिक प्योंगयांग वार्ता में अक्तूबर 4 घोषणा पारित कर राष्ट्रीय स्वतंत्रता और एकीकरण की शानदार संभावना तय की थी। इस साल दोनों पक्षों के नेताओं ने तीन बार वार्ता की और ऐतिहासिक पानमुनजोम घोषणा और सितंबर प्योंगयांग संयुक्त घोषणा पारित की। विश्वास है कि इन दो घोषणाओं के पारित होने से दोनों पक्षों के संबंध एक नए स्तर पर पहुंचेंगे।

सभा में दोनों पक्षों के प्रतिनिधियों ने संयुक्त पत्र पास कर इस बात पर जोर दिया कि कोरिया राष्ट्र का भाग्य कोरिया राष्ट्र के खूद द्वारा तय किया जाना चाहिये। इस भूमि पर युद्ध का खतरा पूर्ण रूप से खत्म किया जाएगा और इसे परमाणु हथियार व खतरों से मुक्त शांतिपूर्ण मातृभूमि बनायी जाएगी। दोनों पक्षों के अधिक सहयोग व आदान प्रदान से राष्ट्र की समृद्धि संपन्न की जाएगी और राष्ट्र के सभी लोगों से शांति, समृद्धि और एकीकरण के नये इतिहास की स्थापना के लिए प्रयास करने की अपील की गयी है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी