शी चिनफिंग ने "चार प्रक्रियाओं" से चीन में हुए महान परिवर्तन का वर्णन किया

2018-10-23 13:02:06

वर्ष 2016 के 3 सितंबर को जी-20 का शिखर सम्मेलन चीन के हांगचो शहर में आयोजित हुआ। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शिखर सम्मेलन में भाग लिया और व्याख्यान दिया। उन्होंने अपने व्याख्यान में चीन के रुपांतर व खुलेपन के महान प्रक्रिया का वर्णन किया और इसे अंततः लागू करने का संकल्प प्रकट किया।

वर्ष 1978 के दिसंबर में जब चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 11वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के तीसरे पूर्णाधिवेशन ने रुपांतर व खुलेपन की प्रक्रिया शुरू की, तब चीन में प्रति व्यक्ति के लिए आय 190 अमेरिकी डालर थी और देहातों में गरीब आबादी की संख्या 77 करोड़ तक रही थी। चालीस सालों के बाद आज चीन विश्व में दूसरा बड़ा अर्थतंत्र बना है और प्रति व्यक्ति के लिए जीडीपी 8800 अमेरिकी डालर तक जा पहुंचा है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने "चार प्रक्रियाओं" से चीन में हुए महान परिवर्तन का वर्णन किया।

पहला, यह प्रगति की खोज की प्रक्रिया है। 1.3 अरब जनसंख्या वाले देश में आधुनिकीकरण साकार करना मानव के इतिहास में कभी नहीं हुआ, इसलिए चीन को खुद नये रास्ते की खोज करनी होती है। चीन ने रुपांतर व खुलेपन को गहराई में चलाने के जरिये चीनी विशेषता वाले समाजवाद का विकास किया। दूसरा, यह कड़ी मेहनत की प्रक्रिया है। चीन ने आर्थिक निर्माण को केंद्र में रखकर अथक प्रयास कर देश को दूसरा बड़ा अर्थतंत्र, सबसे बड़ा माल व्यापार देश तथा तीसरा बड़ा प्रत्यक्ष निवेश देश बना दिया। तीसरा, यह आम समृद्धि की प्रक्रिया है। चीन का विकास करने का सिद्धांत है: जनता के लिए, जनता के सहारे और जनता को लाभ की प्राप्ति। रुपांतर व खुलेपन के जरिये चीन में 70 से अधिक लोगों को गरीबी से मुक्त कराया गया है और 1.3 अरब जनसंख्या का जीवन स्तर उन्नत किया गया है। चीन ने चार दशकों से जो विकास प्रक्रिया पूरी की है कि अन्य देश सैकड़ों वर्षों से गुजर चुके हैं। चौथा, यह चीन के दुनिया जाने और दुनिया भी चीन तक जाने की प्रक्रिया है। चीन ने स्वतंत्र व शांतिपूर्ण वैदेशिक नीति अपनाकर विदेशों से भारी निवेश आकर्षित किया और फिर विदेशों में व्यापक निवेश करना शुरू किया है। चीन ने न्यायपूर्ण और उचित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था के निर्माण को बढ़ावा दिया है।

शी चिनफिंग ने "चार प्रक्रियाओं" से चीन में हुए महान परिवर्तन का वर्णन किया और इससे यह जाहिर है कि चीन का विकास रुपांतर व खुलेपन का परिणाम है और चीन के भावी विकास में भी रुपांतर व खुलेपन पर निर्भर रहेगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी