रूस अमेरिका को आईआरबीएम से निकलने का जवाब देगा :पुतिन

2018-10-25 16:32:00

रूस अमेरिका के मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल संधि (आईआरबीएम) को तोड़ने का जवाब देगा। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 24 अक्तूबर को यह बात कही।

24 अक्तूबर की रात रूस की यात्रा करने वाले इटली के प्रधान मंत्री जोसेफ़ कॉन्ट से वार्ता के बाद संवाददाता सम्मेलन में पुतिन ने कहा कि अगर अमेरिका आईआरबीएम से छोड़े और यूरोप को लघु और मध्यम दूरी की मिसाइल दे, तो रूस इस बात का जल्दी ही जवाब देगा। यूरोपीय देशों को समझ में आना चाहिये कि अगर यूरोपीय देश अमेरिका के यूरोप में लघु और मध्यम दूरी की मिसाइल देने की सहमति करें, तो वे स्वयं को संभावित मिसाइल के प्रहार क्षेत्र में डालेंगे। यह बात उनके हितों के अनुकूल नहीं है।

पुतिन ने कहा कि किसी प्रमाण के बिना अमेरिका ने रूस के आईआरबीएम का उल्लंघन करने की कई बार निंदा की, जबकि अमेरिका ने आईआरबीएम का बार-बार उल्लंघन किया। अमेरिका ने रोमानिया में एंटी-मिसाइल प्रणाली का विन्यास और आक्रामक ड्रोन का उपयोग किया।

उन्होंने कहा कि इस नवंबर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रम्प से वार्ता में वे आईआरबीएम पर चर्चा करेंगे। रूस अमेरिका के साथ शांत रहने के आधार पर इस बात पर चर्चा करना चाहता है।

20 अक्तूबर को ट्रम्प ने अमेरिका के आईआरबीएम से निकलने की घोषणा की, क्योंकि रूस ने लंबे समय से आईआरबीएम का उल्लंघन किया और इस संधि से अमेरिका में नये हथियारों के अनुसंधान को रोका। इस बात पर रूसी विदेश मंत्रालय और राज्य डूमा ने 21 अक्तूबर को कहा कि अगर अमेरिका खुद ही मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल संधि (आईआरबीएम) को तोड़ता है, तो रूस सैन्य तकनीक और अन्य जरूरी तरीकों के ज़रिये जवाब देगा।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी