इजरायल ने गाजा पट्टी में सैन्य ठिकानों पर बमबारी की

2018-10-28 16:33:01

इज़राइल रक्षा बल के प्रवक्ता जोनाथन कॉनरिकस ने 27 अक्तूबर को कहा कि 26 अक्तूबर की रात और 27 अक्तूबर के तड़के दक्षिणी इज़राइल में गाजा पट्टी से 34 रॉकेट दागे गये। इसके जवाब में इजरायली सेना ने गाजा पट्टी में फिलीस्तीनी इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन (हमास) के 87 सैन्य ठिकानों पर हमले किये।

कॉनरिकस ने कहा कि गाजा पट्टी से दागे गये 34 रॉकेटों में से 13 को आयरन डोम हवाई रक्षा प्रणाली के माध्यम से रोक दिया गया था। इसके जवाब में इज़राइली सेना ने दर्जनों लड़ाकू विमानों और हेलीकॉप्टर भेजकर गाजा पट्टी में हमास के 87 सैन्य ठिकानों पर 9 राउंड की बमबारी की, जिसमें हमास के दो हथियार उत्पादन अड्डे और पांच हमास सैन्य शिविर भी शामिल थे।

इसके बाद इजरायली सेना ने गाजा शहर में एक चार मंजिला इमारत पर हमला किया। इजरायली सेना ने घोषणा की कि यह इमारत हमास के सुरक्षा मामलों के लिए एक नया मुख्यालय था। बमबारी के पहले इजरायली सेना ने इमारत में निवासियों को कई बार चेतावनी दी।

इजरायली सेना ने कहा कि हमास को गाजा पट्टी में सभी घटनाओं और उनके परिणामों की ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए। सेना रॉकेट हमलों को "गंभीर घटना" के रूप में देखती है। इजरायली सेना गाजा पट्टी में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। अभी तक, हमास ने इजरायल की कार्रवाई पर अपनी स्थिति व्यक्त नहीं की है।

फिलीस्तीनी इस्लामी जिहाद आंदोलन (जिहाद) ने 27 अक्तूबर को गाजा पट्टी में स्थिति और तनाव होने से बचने के लिए इजरायल के साथ युद्धविराम की घोषणा की। उसी दिन थोड़े पहले जिहाद के अधीन एक सशस्त्र गुट ने गाजा पट्टी से इज़राइल में रॉकेट लॉन्च करने की ज़िम्मेदारी लेने की घोषणा की।

(नीलम)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी