"चीनी नवाचार" के लिए निजी उद्योगों की भूमिका अनिवार्य है

2018-10-30 19:37:00

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने हाल ही में क्वांगतुंग प्रांत का दौरा करते हुए कहा कि निजी उद्योगों ने चीन के आर्थिक विकास के लिए भारी योगदान पेश किया है। छोटे व मझौले उद्योगधंधों की भूमिका के बिना चीन का नवाचार और सृजन कायम करना असंभव है। इसलिए विभिन्न स्तरीय सरकारों को नीति, वित्त और व्यापार वातावरण के संदर्भ में निजी कारोबारों तथा छोटे व मझौले कारोबारों के लिए उत्तम शर्तें तैयार करनी चाहिये।

नवाचार किसी भी देश या राष्ट्र के लिए प्रगति पाने की आत्मा है। और वह उद्योगधंधों के विकास के लिए अथक शक्ति भी है। रुपांतर और खुलेपन के चालीस सालों में बहुत से निजी उद्योगधंधों ने तकनीकी परिवर्तन के जरिये सामाजिक रुपांतर का लीडिंग भी कर दिया है। उनमें श्याओमी मोबाइल फोन, चींगतुंग ई-कॉमर्स आदि देश के आर्थिक विकास में अद्भुत योगदान पेश किया है। निजी कारोबारों का देश में 50 प्रतिशत कर वसुली, 60 प्रतिशत जीडीपी, 70 प्रतिशत तकनीकी नवाचार तथा 90 प्रतिशत रोजगार का भाग रहता है। निजी कारोबारों के विकास के बिना चीनी अर्थतंत्र की सुस्थिर विकास भी असंभव रहेगा। इसीलिये चीनी नेतागण ने अनेक बार यह प्रकट किया कि निजी उद्योगधंधों के विकास का समर्थन करने से पूरे देश के आर्थिक विकास का समर्थन किया जाएगा।

वर्तमान में विश्व में नये दौर की तकनीकी क्रांति और उद्योग क्रांति पैदा हो रही हैं। अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्द्धा को उन्नत करने में नवाचार की भूमिका अधिक है। यह भी कहा जा सकता है कि नवाचार शक्ति के बढ़ने से कारोबारों की गुणवत्ता भी बढ़ेगी। निजी कारोबार तथा छोटे व मझौले कारोबार चीन में तकनीकी नवाचार और अपग्रेड करने की महत्वपूर्ण शक्तियां हैं। पार्टी की 19वीं राष्ट्रीय कांग्रेस की रिपोर्ट में यह प्रस्तुत किया गया है कि तकनीकी नवाचार, आधुनिक वित्त और मानव संसाधन के जुड़ने वाले उद्योगधंधों का निर्माण किया जाए और उद्यमियों की भावना को प्रेरणा व संरक्षण दिया जाए। ताकि निजी कारोबारों की और अधिक नवाचार शक्तियों को उजागर किया जाए और चीनी अर्थतंत्र के तेज़ विकास के लिए नया योगदान पेश किया जाए।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी