अमेरिका और चीन को मतभेद का कारगर प्रबंधन और नियंत्रण करना चाहिए- अमेरिकी पूर्व वरिष्ठ कूटनीतिज्ञ

2018-10-31 16:38:00

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की पूर्व वरिष्ठ कूटनीतिज्ञ सुसान थॉर्नटन ने 30 अक्तूबर को कहा कि अमेरिका और चीन के बीच कोई मौलिक हितकारी संघर्ष नहीं है, बल्कि कुछ क्षेत्रों में समान हित मौजूद हैं। दोनों पक्षों को मतभेदों का कारगर रूप से प्रबंधन और नियंत्रण करते हुए समान रूप से सवाल का निपटारा करना चाहिए।

सुसान कई वर्षों तक कूटनीतिक मामलों में कार्यरत थीं। ट्रम्प सरकार में वे पूर्वी एशिया और प्रशांत मामले की विदेश मंत्री की कार्यवाहक सहायक थीं। गत जुलाई में वे सेवानिवृत्त हो चुकी थीं। सुसान ने 30 अक्तूबर को वाशिंगटन में आयोजित एक थिंक-टैंक कार्यक्रम में भाग लिया और कहा कि अमेरिका और चीन के पास कुछ क्षेत्रों में समान हित मौजूद हैं, दोनों पक्ष वर्तमान अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था की रक्षा करने में संलग्न हैं।

सुसान ने कहा कि क्षेत्रीय शांति की रक्षा करने, आतंकवाद पर हमला करने, अतिवाद और विनाशकारी हथियारों के प्रसार की रोकथाम, संक्रमित बिमारियों और प्राकृतिक विपदाओं के मुकाबले तथा पर्यावरण संरक्षण आदि वैश्विक मुद्दों पर अमेरिका और चीन के पास समान हित मौजूद हैं।

सुसान के विचार में विश्व में सबसे बड़े दो आर्थिक समुदाय होने के नाते अमेरिका और चीन अपने देश और विश्व के विभिन्न देशों की जनता को लाभ पहुंचाने के लिए प्रयासरत हैं, दोनों देशों का आर्थिक विकास घनिष्ठ रूप से जोड़ा जाता है। बीते दशक सालों में दोनों देशों के बीच स्पर्धा और सहयोग साथ-साथ मौजूद हैं, भविष्य में स्थिति जारी रहेगी। जो विचार सामने आया कि स्पर्धा और सहयोग साथ-साथ नहीं रहेंगे, या दोनों विपरीत हैं, बिलकुल गलत है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी