चीन के उभरते उद्योग में निजी अर्थव्यवस्था का नीला सागर

2018-10-31 17:09:01

विश्व भर में आर्थिक मंदी होने की प्रवृत्ति में सभी देशों को नव उभरते उद्योगों के विकास पर जोर देना पड़ता है। चीनी निजी उद्योगधंधों ने भी देसी-विदेशी बाजारों को ध्यान में रखकर नव उभरते उद्योगों के नीले सागर की खोज करने की कोशिश की है।

अर्थतंत्र का उच्च गुण वाला विकास साकार करना किसी भी देश के उत्थान का एकमात्र रास्ता है। इसीलिए जर्मनी ने 2020 उच्च तकनीक रणनीति, अमेरिका ने उन्नत विनिर्माण राष्ट्रीय सामरिक योजना, फ्रांस ने भविष्य की औद्योगिक योजना तैयार की है। चीन ने भी उद्योगधंधों के उन्नयन को प्राथमिकता दी है। पाँच साल पहले चीन ने वर्ष 2020 तक नव उभरते उद्योगों का मूल्य घरेलू उत्पादन मूल्य का 15 प्रतिशत भाग पहुंचाने तथा सूचना प्रौद्योगिकी, उच्च विनिर्माण, जीव-विज्ञान, हरित व कम कार्बन और डिजिटल सृजन का नया आर्थिक स्तंभ बनाने की योजना पेश की। इसी योजना से चीन के आर्थिक विकास में सकारात्मक परिवर्तन हुआ है। इस साल के पहले सात महीनों में चीन में रणनीतिक उभरते उद्योगों के उत्पादन मूल्य में 8.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई। नए ऊर्जा वाहन, औद्योगिक रोबोट, एकीकृत सर्किट की तेज़ वृद्धि हुई। इस में निजी कारोबारों की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका साबित हुई है। आंकड़े बताते हैं कि चीन में 65 प्रतिशत पेंशन, 70 प्रतिशत तकनीकी नवाचार और 80 प्रतिशत नये उत्पादों का विकास निजी कारोबारों के पास संपन्न हो गया है। वर्ष 2014 में चीन में सबसे मशहूर 100 ट्रेड मार्क में 71 प्रतिशत राष्ट्रीय कारोबारों के पास था, जबकि वर्ष 2018 में यह मात्रा 40 प्रतिशत तक गिर गई है। चीन में निजी कारोबारों की वृद्धि से वैश्विक मूल्य श्रृंखला में चीन का स्थान उन्नत किया गया है। वर्ष 2018 में चीन के शीर्ष पाँच सौ उद्योगधंधों में 237 निजी कारोबार हैं, उन में बहुत से मशहूर सूचना प्रौद्योगिकी तथा इंटरनेट खुदरा कारोबार भी हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी