पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री से मिले वांग यी

2018-11-01 11:07:01

31 अक्तूबर को पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री पीटर ओनेल ने पोर्ट मोरेस्बे में चीनी स्टेट काउंसलर एवं विदेश मंत्री वांग यी से मुलाकात की।

मुलाकात में ओनेल ने कहा कि पापुआ न्यू गिनी प्रशांत सागर द्वीपीय देशों के क्षेत्र में चीन का अहम घनिष्ट मित्र है। दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापना के बाद द्विपक्षीय संबंधों का निरंतर आगे विकास होता रहा है, जो इतिहास के सब से अच्छे स्तर तक पहुंचा है। एक चीन की नीति पापुआ न्यू गिनी द्वारा चीन के साथ राजनयिक संबंध स्थापना में मील का पत्थर है। वे यह दोहराना चाहते हैं कि पापुआ न्यू गिनी एक चीन की नीति पर कायम रहेगा। चीन की निस्वार्थ मदद के बिना पापुआ न्यू गिनी का तेज़ विकास नहीं हो सकता। चीन ने सब से पहले पापुआ न्यू गिनी के इस साल के एपेक अनौपचारिक शिखर सम्मेलन का आयोजन करने का समर्थन दिया था और पापुआ न्यू गिनी को पूरी मदद दी। पापुआ न्यू गिनी इसके लिए आभार प्रकट करना चाहता है। पापुआ न्यू गिनी चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के सम्मेलन में भाग लेने और देश की राजकीय यात्रा करने का स्वागत करता है।

मुलाकात में वांग यी ने कहा कि चीन क्षेत्रीय मामलों में पापुआ न्यू गिनी के अहम प्रभाव को बड़ा महत्व देता है। पापुआ न्यू गिनी एपेक अनौपचारिक शिखर सम्मेलन का आयोजन करेगा। चीन इस का समर्थन करता है और चीन ने व्यापक मदद भी दी है। विश्वास है कि दोनों पक्षों के उभय प्रयास से शी चिनफिंग की पापुआ न्यू गिनी यात्रा अवश्य ही सफल होगी। साथ ही वांग ई ने कहा कि पापुआ न्यू गिनी चीन के साथ एक पट्टी एक मार्ग सहयोग समझौते पर हस्ताक्षरित पहला प्रशांत सागर द्वीप देश है। चीन पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री के अगले साल एक पट्टी एक मार्ग अंतर्राष्ट्रीय उच्च स्तरीय फोरम में भाग लेने का स्वागत करता है। चीन एक पट्टी एक मार्ग के ढांचे में पापुआ न्यू गिनी के साथ व्यापार, पूंजी निवेश, उत्पादन, शिक्षा आदि क्षेत्रों में आदान प्रदान व सहयोग का विस्तार करेगा। वांग यी ने जोर देते हुए कहा कि चीन और पापुआ न्यू गिनी के बीच सहयोग दक्षिण दक्षिण सहयोग है, जो विकासशील देशों और मित्रों के बीच आपसी समर्थन व सहायता है। चीन अभी भी एक विकासशील देश है, लेकिन चीन विकासशील देशों और मध्यम व छोटे देशों को हरसंभव मदद देना चाहता है। चीन की सहायता में कोई अतिरिक्त राजनीतिक शर्तें नहीं हैं और किसी तीसरे पक्ष के खिलाफ भी नहीं है। चीन पापुआ न्यू गिनी के साथ संयुक्त राष्ट्र संघ, एपेक, प्रशांत द्वीपीय देशों के फोरम आदि बहुक्षेत्रीय ढांचे में संपर्क व समन्वय को मजबूत करेगा और एक साथ विकासशील देशों के न्यायपूर्ण हितों की रक्षा करेगा।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी