शिनच्यांग में ट्रेनिंग संस्थान की स्थापना आतंकवाद की रोकथाम के लिए है

2018-11-07 11:14:01

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के तीसरे दौर की प्रति देश के लिए मानवाधिकार समीक्षा में भाग लेने वाले चीनी वार्ताकार, चीन के उप विदेश मंत्री ल यू छंग ने 6 नवम्बर को जेनेवा में कहा कि चीन के द्वारा अपने शिनच्यांग प्रदेश में जो ट्रेनिंग संस्थान स्थापित किये हैं, वह आतंकवाद का निवारण करने के लिए है।

ल यू छंग ने कहा कि चीन को अपने और दूसरे देशों के आतंकवाद विरोधी कार्यों में यह अनुभव प्राप्त है यानी कि आतंकवाद की पूर्व रोकथाम करनी पड़ती है। चीन के शिनच्यांग प्रदेश में आतंकवाद को रोकने के लिए ट्रेनिंग संस्थान स्थापित किये गये हैं, जिसका उद्देश्य उग्रवाद से प्रभावित लोगों को आतंकवादी और उग्रवादी विचारों से छुटकारने पाने में मदद देना, और उन्हें आतंकवाद का शिकार बनने से बचाना है। इन लोगों को बचाने के साथ साथ दूसरे अधिकांश लोगों के मानवाधिकार की रक्षा की जाएगी।

ल यू छंग ने कहा कि चीन ने कुछ पश्चिमी देशों के उग्रवाद विरोधी कार्यों में से भी कुछ सबक सीखा है। मिसाल के तौर पर कुछ पश्चिमी देशों के स्कूल में उग्रवाद विरोधी कोर्स खोले गये हैं, यूरोप के शहरों में बुर्का पहनना मना है, और उग्रवादी विचार से प्रभावित व्यक्तियों को कड़ी निगरानी में रखा जाता है। चीनी प्रतिनिधि मंडल के शिनच्यांग वेवूर जातीय सदस्यों ने भी बताया कि शिनच्यांग प्रदेश में आम लोगों को जो चाहिये, वह शांति, विकास और सामंजस्य है। उन्हें मुठभेड़, आतंकवाद और गरीबी से घृणा है। आम लोगों को ट्रेनिंग संस्थान की स्थापना से खुशी है। उन का विचार है कि आतंकवाद पैदा होने से पहले ही कदम उठा ले जाना चाहिये। अभी तक शिनच्यांग में 22 महीनों तक कोई हिंसक आतंकवादी घटनाएं नहीं हुईं। जनवरी से सितंबर तक शिनच्यांग का दौरा करने वाले देसी-विदेशी पर्यटकों की संख्या 13.2 करोड़ तक रही है जो पिछले साल से 40 प्रतिशत अधिक रही है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी