वांग यी ने शी चिनफिंग की यात्रा की चर्चा की

2018-11-21 18:31:00

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 15 से 21 नवम्बर तक एपेक की 26वीं अनौपचारिक शिखर वार्ता में भाग लेते हुए पापुआ न्यू गिनी, ब्रुनेई और फिलीपीन्स की यात्रा की। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने इस यात्रा की चर्चा करते हुए कहा कि राष्ट्रपति शी ने अपनी यात्रा के दौरान एपेक सदस्यों के साथ क्षेत्रीय आर्थिक एकीकरण और दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के साथ रणनीतिक सहयोग पर विचार विमर्श किया, और प्रशांत द्वीप देशों के साथ अनवरत विकास की योजना पर विचार विमर्श किया।

वांग यी ने कहा कि राष्ट्रपति शी ने एपेक सम्मेलन में विश्व के सामने मौजूद चुनौतियों का विश्लेषण किया और विश्व व एशिया प्रशांत के आर्थिक विकास पर चीन की बुद्धि प्रस्तुत की। शी ने एपेक के सदस्यों से क्षेत्रीय आर्थिक एकीकरण और एशिया व प्रशांत स्वतंत्र व्यापार क्षेत्र के निर्माण को बढ़ावा देने की अपील की और संरक्षणवाद और एकतरफावाद के विरूद्ध काम करने का झंडा बुलंद किया। शी ने इस बात पर जोर दिया कि विश्व में सभी देशों को विकास करने का समान अधिकार प्राप्त है, और किसी भी व्यक्ति को विकासमान देशों की जनता को सुखमय जीवन की कोशिश को रोकने का अधिकार नहीं है। इसी उद्देश्य में नवाचार व जटिल अर्थतंत्र के संदर्भ में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को गहराई में चलाना चाहिये ताकि अधिकाधिक देशों की जनता को वैज्ञानिक नवाचार का लाभ प्राप्त हो सके। राष्ट्रपति शी ने अपने व्याख्यान में सहपाठियों की भावना का प्रसार किया। विभिन्न सभ्यता, राजनीतिक व्यवस्था और मार्ग की विविधता से मानव समाज के लिए भारी शक्ति डाली गयी है। इसलिए देशों के बीच समानता, और एक दूसरे की मदद करने से सभी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय नियम की स्थापना बल से नहीं, बल्कि बातचीत के जरिये की जानी चाहिये।

एपेक सम्मेलन के दौरान राष्ट्रपति शी ने दक्षिण कोरिया, इंडोनेशिया और चिली आदि देशों के नेताओं से भी भेंट की और द्विपक्षीय सहयोग पर विचारों का आदान प्रदान किया। शी ने अपनी ब्रुनेई और फिलीपीन्स यात्राओं के दौरान इन देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय संबंधों के विकास का मार्गनिर्देशन किया। चीन और ब्रुनेई ने उन के बीच संबंधों को रणनीतिक सहयोग साझेदार संबंध तय करने की घोषणा की। जबकि चीन और फिलीपीन्स ने पूर्ण रणनीतिक सहयोग संबंधों की स्थापना भी घोषित की। दोनों पक्षों ने वार्ता के जरिये समुद्रीय सहयोग और दक्षिण चीन सागर आचार संहिता की वार्ता को आगे बढ़ाने की उम्मीद व्यक्त की। ब्रुनेई और फिलीपीन्स प्राचीन काल से ही समुद्री सिल्क रोड के पड़ाव थे। आज वे चीन के एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण के प्राकृतिक सहपाठी बने हैं। यात्रा के दौरान चीन और इन दोनों देशों के साथ अनेक सहयोग दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर किये। जो समुद्रीय तेल उत्पादन, बुनियादी उपकरण, ऊर्जा, कृषि, वित्त और कस्टम आदि के क्षेत्र से संबंधित हैं। और उन्होंने शिक्षा, संस्कृति, खेल, चिकित्सा तथा पर्यटन के बारे में अधिक सहयोग करने की इच्छा व्यक्त की।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी