रूस और भारत को व्यापार-निवेश बाधा को खत्म करने का हर प्रयास करना चाहिये :पुतिन

2018-11-28 11:31:00

सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित पहली रूस-भारत सामरिक आर्थिक वार्ता में रूसी के आर्थिक विकास मंत्री मैक्सिम ओरेस्किन ने 26 नवंबर को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का भाषण पढ़कर सुनाया। इस भाषण में पुतिन ने कहा कि रूस और भारत को व्यापार और निवेश की बाधा को खत्म करने के लिये हर प्रयास करना चाहिये।

इतर तास ने 26 नवंबर को रिपोर्ट जारी की कि इस भाषण के अनुसार रूस और भारत को व्यापार और निवेश के बाधा को खत्म करने के लिये मौजूदा प्रभावी कदमों का पूर्ण उपयोग करना और नए समाधान की खोज करनी चाहिये। साथ ही उन्हें उद्यमों के लिये बेहतर संचालन वातावरण की स्थापना करनी चाहिये।

इस भाषण में पुतिन ने कहा कि रूस और भारत के बीच सहयोग पहले से और बढ़ा है। दोनों पक्षों के बीच सहयोग क्षेत्रों में उद्योग, वित्त और उन्नत प्रौद्योगिकी आदि पक्ष शामिल हैं। दोनों देशों के बीच व्यापार मात्रा के विकास की स्थिति काफी अच्छी बनी। रूस और भारत द्विपक्षीय संबंधों के लिये आर्थिक आधार को मज़बूत करेंगे और सभी क्षेत्रों में सहयोग का आगे विकस करेंगे।

पुतिन ने आगे कहा कि पहली रूस-भारत सामरिक आर्थिक वार्ता दोनों देशों के बीच आर्थिक विकास को और दृढ़ करने के लिये महत्वपूर्ण कदम है। इस वार्ता के जरिये दोनों पक्ष न केवल भविष्य परियोजनाएं बना सकेंगे, बल्कि परस्पर लाभकारी प्रस्ताव का आरंभ कर सकेंगे।

पता चला है कि पहली रूस-भारत सामरिक आर्थिक वार्ता 25 से 26 नवंबर तक रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित हुई।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी