टिप्पणीः हाथ मिलाकर खुली विश्व अर्थतंत्र की रचना करें चीन और यूरोप

2018-11-28 19:01:00

चीनी उप प्रधानमंत्री ल्यो ह ने 28 नवम्बर को जर्मनी की यात्रा समाप्त की। यात्रा के दौरान ल्यो ह ने जर्मन चांसलर एंजेला मर्कल से वार्ता की और 8वें चीन-यूरोप मंच के हैमबर्ग शिखर सम्मेलन के समापन समारोह पर थीम भाषण दिया। हालिया व्यापारिक संरक्षणवाद के कुप्रभाव होने की पृष्ठभूमि में चीन-जर्मनी और चीन-यूरोप द्वारा हाथ मिलकर खुली दुनिया की रचना करने से विश्व को सक्रिय संकेत दिया गया है। जो वैश्विक अर्थतंत्र को स्थिर बनाने के लिए अति महत्वपूर्ण है।

खुलेपन आर्थिक विकास को आगे बढ़ा सकता है, जो समान समृद्धि को साकार करने के लिए मददगार साबित होगा। इस के विपरीत आर्थिक मंदी से निराशा पैदा होगी और बंद अंतर्राष्ट्रीय संबंध की परिस्थिति पैदा होगी।

इधर के सालों में व्यापारिक संरक्षणवाद से विश्व अर्थतंत्र के खुलेपन ने गंभीर चुनौतियों का सामना किया। इसी परिस्थिति में स्वतंत्र व्यापार पर विश्व की प्रमुख आर्थिक इकाइयों का राजनीतिक वचन व समर्थन अति महत्वपूर्ण है।

चीन और जर्मनी तमाम सामरिक साझेदार हैं। विश्व अर्थतंत्र के खुलेपन की रक्षा करने में दोनों के बीच सहयोग की भारी गुंजाइश है। दोनों बड़े व्यापारिक देश हैं और विश्व के सब से अहम निवेशक देश भी हैं। दोनों देशों के आर्थिक विकास को खुलेपन की दुनिया बाजार से लाभ मिला है। जबकि यूरोपीय संघ विश्व में सब से बड़ा व्यापारिक ग्रुप है। यूरोपीय संघ के लिए खुलेपन वाला विश्व अर्थतंत्र का महत्व आत्म-स्पष्ट है।

व्यापारिक युद्ध में कोई विजेता नहीं है। यह चीन और यूरोप द्वारा संपन्न सहमति थी। चीन और यूरोपीय संघ विश्व के सब से दो बड़े आर्थिक समुदाय हैं, साथ ही दोनों बहुपक्षीय व्यापारिक सिस्टम के रक्षक भी हैं। दोनों पक्षों को विश्व बहुध्रुवीकरण के अनुकूल में सामरिक संपर्क व सहयोग को मजबूत करना चाहिए, बहुपक्षीयवाद और स्वतंत्र व्यापारिक तंत्र की रक्षा करनी चाहिए। खुलेपन वाले विश्व अर्थतंत्र की समान रक्षा करनी चाहिए, व्यापार व पूंजी निवेश की स्वतंत्रता व सुविधाकरण को आगे बढ़ाना चाहिए। साथ ही वैश्विक प्रशासन को परिपूर्ण कर मानव शांति व विकास कार्य को आगे बढ़ावा देना चाहिए।

जी-20 अर्जेंटीना शिखर सम्मेलन इस शुक्रवार को आयोजित होगा। विभिन्न देशों के नेता क्या विकल्प लेंगे। चीन और यूरोप ने जवाब दे दिया है।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी