टिप्पणी:दूर दृष्टि से वैश्विक अर्थव्यवस्था की दिशा देखें

2018-12-01 20:31:00

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 30 नवंबर को जी20 शिखर सम्मेलन के पहले चरण वाली बैठक में विभिन्न सदस्य देशों से दूर दृष्टि से जिम्मेदार रुख अपनाकर वैश्विक अर्थव्यवस्था की दिशा देने की अपील की। साथ ही कहा कि साहस के साथ रणनीतिक दृष्टि दिखाकर खुलेपन व सहयोग, साझेदार भावना, नवाचार व समान जीत पर कायम रहना चाहिये। ताकि वैश्विक अर्थव्यवस्था सही दिशा में आगे बढ़ सके।

बीते दस वर्षों में जी20 शिखर सम्मेलन ने वैश्विक आर्थिक शासन में महत्वपूर्ण नेतृत्व भूमिका निभायी। आज जब विभिन्न सदस्य देशों ने फिर एक बार वैश्विक अर्थव्यवस्था की चर्चा की, तो उन के सामने यह वास्तविकता दिखती है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था मंदी में पड़ने की चुनौती में है। एकपक्षीयवाद व व्यापार संरक्षणवाद ने गंभीर रूप से विश्व बहुपक्षीयवादी व्यवस्था को हानि पहुंचायी। यह कहा जा सकता है कि वे अपने के लिये और वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिये एक कठोर ऐतिहासिक चुनाव कर रहे हैं। इसलिये राजनीतिज्ञों को रणनीतिक दृष्टि से इस बात को देखना चाहिये।

खुलेपन व सहयोग का बहाल करने के लिये विश्व के विभिन्न देशों को मुक्त व्यापार और बहुपक्षीयवाद के आधार पर स्थापित व्यापारिक व्यवस्था की रक्षा करने की पूरी कोशिश करनी चाहिये। जिसका केंद्र विश्व व्यापार संगठन ही है। इस संगठन में स्पष्ट नीति-नियम व सज़ा प्रणाली प्राप्त हैं। साथ ही विश्व व्यापार संगठन ने सदस्य देशों के लिये व्यापारिक संघर्ष का समाधान करने का एक व्यवस्था भी तैयार की है। ताकि हिंसा या युद्ध से मामले का समाधान करने से बचाया जा सके।

शिखर सम्मेलन के दौरान चीन, रूस, भारत, ब्राजील व दक्षिण अफ़्रीका पाँच देशों से गठित ब्रिक्स देशों के नेताओं ने इस बात का विचार-विमर्श किया। उन का समान विचार है कि विश्व व्यापार संगठन जैसी नीति के आधार पर स्थापित बहुपक्षीय आर्थिक व्यवस्था का समर्थन देने की पूरी कोशिश करनी चाहिये। ताकि पारदर्शी, भेदभाव रहित, खुला व सहनशील अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को सुनिश्चित किया जा सके।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी