टिप्पणी :चीन और अमेरिका के राज्याध्यक्षों ने व्यापार संघर्ष पर लगाम लगाई

2018-12-03 10:01:03

8 महीने से अधिक समय तक चले चीन-अमेरिका व्यापार संघर्ष के लिए इस साल के अंत में मुड़ने का महत्वपूर्ण मौका आया।

1 दिसंबर को जी-20 शिखर बैठक में भाग लेने वाले चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भेंट वार्ता की ,जो इस मार्च में चीन अमेरिका व्यापार संघर्ष पैदा होने के बाद दोनों के बीच पहली मुलाकात है ।दोनों पक्षों ने चीन अमेरिका व्यापारिक मुद्दे पर विचार विमर्श कर समानता बनायी और बढ़ाई गई टैरिफ़ दर को तुरंत बंद करने और फौरन ही एक दूसरे की चिंताओं का समाधान करने और दोनों पक्षों के वार्ता दलों से वार्ता तेज़ करने का फैसला किया।

चीन और अमेरिका के राज्याध्यक्षों द्वारा व्यापार संघर्ष पर लगाम लगाने से एक साथ आगे बढ़कर वार्तालाप से सवाल के समाधान की इच्छा ज़ाहिर हुई है। इसके साथ ही चीन का दृढ़ता के साथ देश और जनता के केंद्रीय हितों की सुरक्षा करने का सैद्धांतिक पक्ष और वार्ता में पारस्परिक सम्मान, समानता और आपसी लाभ का सिद्धांत भी दर्शाया गया है।

इस वर्ष मई और नवंबर में शी चिनफिंग ने ट्रंप के साथ फोन पर दो बार बात की और इस दिसंबर में भेंटवार्ता आयोजित हुई। राजाध्यक्षों के बीच आवाजाही ने व्यापार संघर्ष के समाधान में कुंजीभूत भूमिका निभायी।

ऊंचे स्तर वाले वैश्विक आर्थिक भूमंडलीकरण के आज चीन और अमेरिका के बीच वायापारिक युद्ध नहीं बढ़ना और इसे जल्दी ही बंद करना दोनों देशों यहां तक कि पूरे विश्व के उद्यमों और जनता के लिए बड़ी खुशखबरी है। संपन्न हुई समानताओं के मुताबिक चीन घरेलू मांग के अनुसार कृषि, ऊर्जा, तैयारशुदा वस्तु और सेवा उद्योग में अमेरिका से निर्यात का विस्तार करेगा। लेकिन चीन के विशाल बाज़ार में अमेरिका का अनुपात कितना होगा, यह अमेरिका के रुख़ और क्षमता पर निर्भर करेगा। एक तरफ ,चीनी बाज़ार एक ईमानदार और समानतापूर्ण प्रतिस्पर्द्धा वाला बाज़ार है। आर्थिक धौंस और अधिकतम दबाव से कुछ भी हासिल नहीं होगा। दूसरी तरफ़, चीन में बाज़ार पहुंच का विस्तार पूरे विश्व के लिए है, न सिर्फ अमेरिका के लिए।

चीन और अमेरिका के व्यापार वार्ता दल जल्द ही अगले दौर का सलाह मशविरा करेंगे। चीन पहले की तरह दोनों देशों के समान हितों और विश्व व्यापार व्यवस्था की समग्र स्थिति की सुरक्षा का ख्याल रखते हुए व्यावसायिक योजना पेश करेगा। लेकिन चीन को साफ़ पता है कि चीन-अमेरिका व्यापार संघर्ष एक बहुत जटिल मुद्दा है। कई दौर की वार्ता से ही सभी सवालों का समाधान नहीं हो सकेगा। सो चीन अपने लय से अपनी बात को बखूबी अंजाम देगा और शांति और स्थिरता से विभिन्न चुनौतियों का सामना करेगा। (वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी