चीन और अमेरिका ने एक दूसरे पर नए टैरिफ लगाने को बंद करने पर सहमति संपन्न की

2018-12-03 11:31:00

चीन और अमेरिका के राष्ट्रपतियों ने 1 दिसंबर को ब्यूनस आयर्स में वार्तालाप कर एक दूसरे के मालों पर नए टैरिफ लगाने को बंद करने पर सहमति प्राप्त की। दोनों शीर्ष नेताओं ने अपने-अपने वार्ताकारों को सभी टैरिफ बढ़ने की दिशा पर वार्ता करने का आदेश दिया। विद्वानों का कहना है कि चीन और अमेरिका के राष्ट्रपतियों की वार्ता से व्यापार संघर्ष के विस्तार को रोका गया है जिससे द्विपक्षीय संबंधों और विश्व व्यापार को लाभ मिलेगा।

वार्ता में दोनों पक्षों ने मौजूदा मतभेदों और समस्याओं के समाधान के लिए रचनात्मक योजना पेश की हैं। दोनों ने एक दूसरे के लिए बाजार खोलने पर सहमति जतायी और चीन के आगे रुपांतर के दौरान अमेरिका की चिन्ताओं को भी दूर किया जाएगा। चीन अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक विनिमय केंद्र के प्रमुख शोधकर्ता चांग यैन शेंग ने कहा कि चीन और अमेरिका के नेताओं के बीच हुई वार्ता में संपन्न सहमति दोनों देशों और विश्व अर्थव्यवस्था के लिए लाभदायक है। अमेरिकी अर्थतंत्र को व्यापार युद्ध से भारी नुकसान पहुंचा है और देश में व्यापार युद्ध के विरोध में उठने वाली आवाजों में बढ़ोत्तरी देखी गई हैं। उधर व्यापार युद्ध से चीनी कारोबारों को भी भारी नुकसान पहुंचा है। व्यापार युद्ध बंद करना दोनों देशों का समान विचार है।

दोनों देशों के राष्ट्रपतियों के आदेश के अनुसार चीन और अमेरिका के वार्ताकार आर्थिक संबंधों को सामान्य कक्षा में वापस पहुंचाने के लिए कोशिश करेंगे। दोनों पक्षों को इसके सिलसिले में सहयोग करने और उभय जीत की भावना दिखानी चाहिये। विद्वानों ने यह सुझाव पेश किया है कि दोनों देशों का संयुक्त जांच व निगरानी दल स्थापित किया जाए जो बौद्धिक संपदा का उल्लंघन करने, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण पर प्रतिबंध लगाने तथा कृषि सब्सिडी देने की कार्यवाहियों की निगरानी करेगा। दोनों पक्षों की समान कोशिशों के जरिये मौजूदा समस्याओं को दूर किया जा सकेगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी