बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री के आम चुनाव में भाग लेने के निवेदन को खारिज किया गया

2018-12-03 15:30:00

2 दिसंबर को बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री और सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बिनपी) की अध्यक्ष खालिदा जिया आने वाले 11वें आम चुनाव में खड़ी नहीं हो पाएंगी, क्योंकि उन्हें भ्रष्टाचार के दो अलग-अलग मामलों में कुल 17 साल कैद की सज़ा सुनाई गई है।

वर्तमान में बांग्लादेश की चुनाव समिति 3000 से अधिक आवेदकों की योग्यता की जांच करती है, जिन्होंने 11वें आम चुनाव के उम्मीदवार बनने के लिये निवेदन पत्र पेश किया। आवेदकों के अपराधी होने और अपूर्ण साधन जैसी बातों के कारण अधिक निवेदन पत्रों को खारिज किया गया।

पता चला है कि बांग्लादेश का 11वां आम चुनाव यानी राष्ट्रीय संसदीय चुनाव 30 दिसंबर को आयोजित होगा। इस चुनाव में भाग लेने के लिये अक्टूबर में खालिदा जिया के नेतृत्व में बिएनपी ने पूर्व विदेश मंत्री कमाल हुसैन के साथ नई विपक्षी पार्टी बांग्लादेश यूनाइटेड नेशनल फ्रंट का गठन किया। बांग्लादेश के उच्च न्यायालय ने 27 नवंबर को इस तय की घोषणा की कि ये लोग आम चुनाव के उम्मीवार नहीं बन सकते हैं, जिन्हें 2 वर्षों से अधिक साल की कैद की सजा सुनाई गई है। बांग्लादेश के सुप्रीम कोर्ट ने 28 नवंबर को उच्च न्यायालय की इस नीति को बनाए रखने की घोषणा की।

इस फरवरी खालिदा जिया को जिया अनाथालय भ्रष्टाचार के मामले में 5 साल जेल की सज़ा सुनाई गई। उच्च न्यायालय ने इस मामले में खालिदा की जेल की सजा पांच साल से बढ़ाकर 10 साल कर दी। इस अक्तूबर में उन्हें जिया धर्मार्थ ट्रस्ट फंड भ्रष्टाचार के मामले में 7 साल जेल की सजा भी सुनाई गई है।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी