छांग अ नंबर चार चंद्रमा के अंधेरे भाग में कई वैज्ञानिक परीक्षाएं करेगा

2018-12-08 15:00:00

चीन का छांग अ नंबर 4 सर्वेक्षण यान 8 दिसंबर को सफलतापूर्वक छोड़ा गया। वह मानव के लिए पहली बार चंद्रमा के अंधेरे भाग में उतरेगा और सिलसिलेवार वैज्ञानिक परीक्षण करेगा।

चीनी विज्ञान अकादमी के चंद्रमा और डीप स्पेस सर्वेक्षण विभाग के निदेशक चो योंग ल्यो ने बताया कि पिछली सदी के 50 के दशक से चंद्रमा और चंद्रमा की कक्षा पर 100 से अधिक यान भेजे गये हैं। लेकिन कोई भी चंद्र यान चंद्रमा के अंधेरे भाग में नहीं उतरा। सो इस बार छांग अ मिशन इतिहास रचेगा।

सूत्रों के अनुसार छांग अ नंबर 4 चंद्रमा के अंधेरे भाग के ऐटकन बेसिन में उतरेगा, जो अब तक सूर्य व्यवस्था में सबसे बड़ा और गहरा बेसिन है। चीनी चंद्रमा सर्वेक्षण परियोजना के चीफ इंजीनियर वू वेइरन ने बताया कि ऐटकन बेसिन में ब्रह्मांड के आदि काल के कुछ अवशेष या आसार होने की बड़ी संभावना है। वहां सर्वेक्षण करने का बड़ा वैज्ञानिक महत्व है।

वू वेइरन ने बताया कि अगर छांग अ नंबर 4 सुरक्षित रूप से उतरेगा और सही रूप से गश्त लगाएगा, तो चंद्रमा पर हमारी पहुंच की क्षमता बहुत हद तक उन्नत होगी। इसका मतलब है कि हम चंद्रमा के किसी भी ठिकाने पर पहुंच सकेंगे। इसके अलावा हम चंद्रमा के पिछले भाग की भौगोलिक स्थिति और भूगोल के गठन का पता लगाएंगे और हमें चंद्रमा का पहला भूमिगत चित्र प्राप्त होगा, जिसकी गहराई 300 मीटर से अधिक होगी। हमें वहां के खनिजों के गठन की जानकारी भी मिलेगी। इसके अलावा हमें चंद्रमा के पिछले भाग के सटीक तापमान पता चलेगा। (वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी