कनाडा "राजनीतिक अपहरण" का पाईनीयर बना है

2018-12-09 17:30:00

चीन के उप विदेश मंत्री ल यू छंग ने 8 दिसंबर को चीन स्थित कनाडा के राजदूत जॉन मैककैलम को बुलाकर कनाडा द्वारा ह्वावेई कंपनी की जिम्मेदार अफसर को गिरफ्तार करने का दृढ़ता से विरोध प्रकट किया। ल यू छंग ने कहा कि कनाडा ने अमेरिका की मांग पर एक चीनी नागरिक को गिरफ्तार करने से चीनी नागरिक के कानूनी अधिकारों का उल्लंघन किया और कनाडा से तुरंत ही इस चीनी नागरिक को रिहा करने की मांग की। नहीं तो कनाडा को इससे संपन्न सभी परीणामों का भुगतान करना पड़ेगा।

लेकिन कनाडा क्यों अमेरिका के राजनीतिक अपहरण का पाईनीयर बना है?कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूड्यू ने खुले तौर पर अतिरिक्त टैरिफ लगाने के लिए अमेरिका की आलोचना की और कहा कि हम किसी का भी नियंत्रण सहन नहीं करेंगे। और अमेरिका के कदम के विरूद्ध में कनाडा ने 1 जुलाई से अमेरिकी मालों के प्रति 25 प्रतिशत चुंगी लगाना शुरू किया, लेकिन दूसरी तरफ कनाडा ने अमेरिका के आदेश पर ह्वावेई कंपनी की सीएफओ को गिरफ्तार किया। ओटावा के एक पाठक ने द ग्लोब एंड मेल के समक्ष लिखे अपने पत्र में कहा कि मुझे अपनी सरकार द्वारा किसी विदेशी कंपनी के सीएफओ को अपहृत करने की कार्यवाही पर शर्म आती है। शर्मरहित कार्यवाही करने से कनाडा के नेतृत्व के लिए शर्म की बात है और विदेशों में काम करने वाले कनेडियनों को भी खतरे में डाला जाएगा।

इधर के वर्षों में कुछ पश्चिमी देशों ने ह्वावेई कंपनी को खुफिया बनने का आरोप लगाने की कोशिश की और कहा कि ह्वावेई कंपनी से संभावित सूचना सुरक्षा जोखिम पैदा होगी। लेकिन उस समय कनाडा ने ह्वावेई कंपनी को स्थानीय मुद्दे में भाग लेने के लिए मना नहीं किया। कनाडा में प्रमुख मोबाइल फोन कारोबारों के उपकरणों में ह्वावेई कंपनी की उत्पादन वस्तुएं शामिल हैं। बीसीई समेत कंपनियों ने ह्वावेई के साथ 5G तकनीक के विकास में सहयोग किया है। कुछ कनेडियन कालेज़ों ने भी ह्वावेई के साथ साझेदार संबंध कायम किये हैं। इधर के समय कनाडा सरकार ने चीन के साथ संपर्क रखकर स्वतंत्र व्यापार समझौते की वार्ता को बढ़ावा भी दिया है। लेकिन दोनों देशों के बीच सहयोग करने की कोशिशों को ह्वावेई कंपनी की सीएफओ की गिरफ्तारी से खतरे में डाला गया है। इसी कदम से कनाडा की 5G तकनीक के विकास में ह्वावेई कंपनी की भागीदारी असंभवित होगी और दोनों देशों के बीच स्वतंत्र व्यापार समझौता संपन्न होने की संभावना भी रद्द की जाएगी। कनाडा में बहुत से लोगों ने कनेडियन कोर्ट और राजनीतिज्ञ से अमेरिका की मांग को इनकार करने की अपील की है। क्योंकि अमेरिका की मांग के पीछे का उद्देश्य दूसरे देशों के बीच व्यापार को मना करना है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी