मानवाधिकार मुद्दे को राजनीतिकरण बनाने का विरोध- चीन

2018-12-10 19:30:03

बहुत से विकासमान देशों की भांति चीन भी मानवाधिकार मुद्दे का राजनीतिकरण कर चयनात्मक और दोहरी मापदंड अपनाए जाने का कड़ा विरोध करता है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 10 दिसम्बर को पेइचिंग में आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

10 दिसम्बर को विश्व मानवाधिकार दिवस है। मानवाधिकार व्यापक विकासमान देशों और पश्चिमी देशों के बीच अधिक मतभेद मौजूद वाला क्षेत्र है। इस क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय सहयोग की चर्चा करते हुए लू खांग ने कहा कि मानवाधिकार का संवर्धन मानव जाति की समान अभिलाषा है। विभिन्न देशों को खुद की स्थिति के अनुसार मानवाधिकार कार्य के विकास को लगातार आगे बढ़ाना चाहिए। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को मानवाधिकार दिवस मनाने से लाभ उठाकर मानवाधिकार गारंटी को निरंतर मजबूत करना चाहिए। “संयुक्त राष्ट्र चार्टर” के उद्देश्य और सिद्धांत का पालन करते हुए मानवाधिकार आदान-प्रदान का संवर्धन किया जाना चाहिए, बातचीत और सहयोग के माध्यम से मानवाधिकार मतभेदों को दूर करना चाहिए। चीन समानता और आपसी सम्मान के आधार पर विभिन्न पक्षों के साथ मिलकर मानवाधिकार क्षेत्र में आवाजाही और सहयोग को मजबूत करना चाहता है, ताकि एक दूसरे से सीखते हुए समान प्रगति प्राप्त की जा सके।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी