चीन एक दूसरे के समादर करने के आधार पर मानवाधिकार वार्तालाप करने को तैयार है:लू कांग

2018-12-11 19:01:00

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने 11 दिसंबर को पेइचिंग में कहा कि चीन, एक दूसरे के समादर के आधार पर मानवाधिकार वार्ता करने को तैयार है।

रिपोर्ट है कि जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रेन्क वॉल्टर स्टेनमेइर ने चीनी नेता के साथ मानवाधिकार का सवाल पेश किया। इस बात को लेकर लू कांग ने कहा कि चीन और जर्मनी के बीच काफी सहयोग किया जा रहा है। दोनों देशों के नेताओं के बीच मानवाधिकार, शरणार्थी और जटिल तकनीक आदि विषयों पर निरंतर संपर्क बने हुए हैं। चीन भी एक दूसरे के समादर के आधार पर मानवाधिकार वार्ता करने पर खुला है। चीन और जर्मन के नेताओं ने मुख्य तौर पर राजनीति, अर्थव्यवस्था, मानविकी, प्रौद्योगिकी के संदर्भ में सहयोग पर विचार विमर्श किया। दोनों ने बहुपक्षवाद और स्वतंत्र व्यापार पर सहमतियां संपन्न की हैं। राष्ट्रपति फ्रेन्क वॉल्टर स्टेनमेइर ने कहा कि वे चीन के रुपांतर और खुलेपन में प्राप्त प्रगतियों का उच्च मूल्यांकन करते हैं। और उन्होंने चीन में गरीबी उन्मूलन मुहिम की प्रशंसा की है। उन का विचार है कि चीन और जर्मनी के बीच व्यापक समान हित मौजूद है, जर्मनी चीन के साथ विभिन्न क्षेत्रों के आदान प्रदान को बढ़ाएगा।

लू कांग ने अमेरिका के चीन स्थित राजदूत द्वारा मानवाधिकार के बारे में चीन की आलोचना किये जाने के प्रति कहा कि अमेरिका को गंभीरता और निष्पक्षता से चीन के विकास रास्ते और मानवाधिकार प्रगतियों को देखना चाहिये। पक्षपात से दूसरे देशों के साथ पारस्परिक विश्वास को नहीं बढ़ाया जाएगा और मानवाधिकार के माध्यम से अपना राजनीतिक उद्देश्य साकार करना अन्याय है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी