भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने यौन हमले के पीड़ितों की गोपनीयता बरकरार रखने का दिया निर्देश

2018-12-12 15:30:08

भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने 11 दिसंबर को मीडिया, पुलिस व कानूनी संस्थाओं पर यौन हमले के पीड़ितों की पहचान जाहिर करने पर प्रतिबंध लगा दिया, ताकि उनकी गोपनीयता की रक्षा की जा सके।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार यहां तक कि पीड़ितों के मां-बाप की सहमति के बावजूद पुलिस व कानूनी संस्थाएं पीड़ितों की पहचान उजागर नहीं करेंगी। यौन हमले से संबंधित मामलों की जांच रिपोर्ट भी जारी नहीं होगी। फोरेंसिक संस्थान को सील कर कोर्ट को पीड़ितों की रिपोर्ट देनी होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने यह कहा कि अगर पीड़ित अपनी इच्छा से मीडिया से संपर्क रखना चाहता है, तभी मीडिया इसकी रिपोर्ट दे सकती है। अन्यथा मीडिया इस बारे में रिपोर्ट या इंटरव्यू नहीं ले पाएगा।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी