रुपांतर और खुलापन चीन में मानवाधिकार के विकास के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है:विद्वान

2018-12-12 16:30:07

चीनी राज्य परिषद ने 12 दिसंबर को "रुपांतर और खुलेपन के 40 वर्षों में चीन में मानवाधिकारों के विकास और प्रगति" शीर्षक श्वेत पत्र जारी किया, जिसमें इतिहास और तथ्यों से बीते चालीस सालों में चीन में मानवाधिकार कार्यों के विकास का सिंहावलोकन किया गया है।

चीनी मानवाधिकार अनुसंधान संघ के परिषद सदस्य, नानकाई विश्वविद्यालय के मानवाधिकार अनुसंधान केंद्र के प्रधान चांग चैन ने कहा कि रुपांतर और खुलेपन के चालीस साल चीन में मानवाधिकार के तेज़ी से विकास होने का काल है। क्योंकि रुपांतर का उल्लेखनीय काम समाजवादी अर्थतंत्र के निर्माण से व्यक्तियों को अधिक स्वतंत्रता और अधिकार दिलाना है। रुपांतर शुरू होने के बाद चीन में नागरिकों के स्वतंत्र अधिकार की गारंटी भी काफी बढ़ी है। दूसरी तरफ सामाजिक बीमा व्यवस्था उपलब्ध होने से लोगों के आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकारों की गारंटी भी की गयी है।

सेंट्रल साउथ यूनिवर्सिटी के मानवाधिकार अनुसंधान केंद्र के प्रधान माऔ च्वन श्यांग का कहना है कि रुपांतर और खुलेपन के चालीस सालों में चीन ने अपनी राष्ट्रीय स्थितियों के अनुकूल होने वाला मानवाधिकार रास्ता प्रशस्त किया है। चीन ने मानवाधिकार के आम सिद्धांतों को अपनी ठोस स्थितियों के साथ जोड़कर जनता केंद्रित मानवाधिकार विचार अपनाया। और जनता के जीवन अधिकार और विकास अधिकार को प्राथमिकता दी है। इसके साथ आर्थिक, राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और पर्यावरण के अधिकार को बढ़ावा दिया है जिससे मानव के पूर्ण विकास को बढ़ावा मिला है। माऔ ने यह भी कहा कि चीन ने अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार के लिए भारी योगदान पेश किया है। पहला, चीन ने अविचल तौर पर विश्व शांति व सुरक्षा की रक्षा की है और एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण से दूसरे देशों के साथ विकास को साझा किया है। दूसरा, चीन ने अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दस्तावेज़ों की तैयारियों में भाग लिया और अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार नियमों को बढ़ाया। तीसरा, चीन ने अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार के शासन में मानव का समान भाग्य समुदाय का निर्माण करने और नये ढ़ंग वाले अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का निर्माण करने आदि अपने अपने विचार और रुख भी पेश किये हैं।

विद्वानों का मानना है कि चीन में मानवाधिकार की प्रगति से चीनी जनता को काफी मानवाधिकार प्राप्त होने के अलावा मानव के लिए भी चीन का अनुभव और रूपरेखा तैयार की गयी है। विश्वास है कि चीन में मानवाधिकार का शानदार भविष्य जरूर होगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी