नानचिंग शहर में राष्ट्रीय स्मरण संरक्षण नियम प्रकाशित हुआ

2018-12-13 16:31:00

इस साल 13 दिसंबर को नानचिंग नरसंहार के पीड़ितों का पांचवां राष्ट्रीय स्मृति दिवस मनाया गया है। उसी दिन नानचिंग शहर में राष्ट्रीय स्मरण संरक्षण नियम प्रकाशित हुआ, जिसके मुताबिक नरसंहार के उत्तरजीवियों की मदद करने और स्मृति स्थल का प्रबंधन करने आदि विषय भी शामिल हैं।

नानचिंग शहर की जन प्रतिनिधि सभा की वैधानिक कमेटी के उप प्रधान याओ जंग लू ने कहा कि नियम के प्रकाशन से राष्ट्रीय स्मरण तथा इससे जुड़े समारोह की गारंटी की जाती है। कानून की स्थापना जन राय के आधार पर की जाती है। नानचिंग शहर में आयोजित एक जनमत ग्रहण के मुताबित 78.1 प्रतिशत लोगों ने राष्ट्रीय स्मरण संरक्षण नियम के प्रकाशन का समर्थन किया है। और बाद में मिडिल स्कूल और प्राइमरी स्कूल की शिक्षा में भी यह मुद्दा शामिल किया जाएगा।

राष्ट्रीय स्मरण संरक्षण नियम के मुताबिक स्मृति स्थलों में मनोरंजन गतिविधियों का आयोजन करना मना है, और स्मृति के लिए अनुकूल न होने वाले लोगो, विज्ञापन और नाम आदि रखना भी मना है। ऐसे स्थलों में बिक्री, मनोरंजन, प्रदर्शन, भिखारी आदि भी मना है। इस नियम में यह भी निर्धारित है कि किसी भी व्यक्तियों के द्वारा नानचिंग नरसंहार के ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़ा-मरोड़ा जाना, और देश व राष्ट्र के सम्मान व भावना को क्षति पहुंचाया जाना सख्त मना है। राष्ट्रीय स्मृति स्थलों में जापानी सैन्यवाद के सैन्य वर्दी, बैनर और आइकन का इस्तेमाल करना मना है। नियम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानून कार्यवाही की जाएगी।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी