चीन से सीखे और अफ़गानिस्तान-चीन सहयोग को मजबूत करे : हामिद करज़ई

2018-12-13 17:30:03

चीन से सीखे और अफ़गानिस्तान-चीन सहयोग को मजबूत करे : हामिद करज़ई

अफ़गानिस्तान चीन की विचारधारा और अनुभव सीख सकेगा और कुछ क्षेत्रों में चीन के साथ सहयोग को मजबूत करेगा, ताकि देश में शीघ्र ही शांति और विकास साकार हो सके। अफ़गानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने 12 दिसम्बर को पेइचिंग में चाइना रेडियो इन्टरनेशनल के संवाददाता को दिए एक खास इन्टरव्यू में यह आशा व्यक्त की।

“मैं पेइचिंग, शांगहाई, थ्येनचिन, शीआन, क्वेइलिन, छिंगताओ, च्युचाईको और तुच्यांगयान की यात्रा कर चुका हूं। कल मैं क्वांगचो में था। मैं चीन के दसियों शहरों का दौरा कर चुका हूं। मैं बिलकुल एक चीनी जैसा हूँ। ये सभी स्थल बहुत सुन्दर हैं।”करज़ई ने सीआरआई संवाददाता को यह बात कही।

करज़ई चीनी पारंपरिक संस्कृति के प्रति बहुत रुचि है और प्राचीन चीनी विचारक कंफ्यूशियस की विचारधारा के प्रति उनकी अपनी विशेष समझ भी है। उन्होंने कहा कि अगर कंफ्यूशियस द्वारा प्रस्तुत“सम्मान, समावेश, विश्वास, चतुरता और उदारता”पाँच पहलुओं का पालन किया जाए, तो अफ़गानिस्तान में शांति और समृद्धि की प्राप्ति हो सकेगी।

करज़ई ने गत महीने में शांगहाई में आयोजित चीनी अंतरराष्ट्रीय आयात एक्सपो की चर्चा की और कहा कि“बेल्ट एंड रोड”के ढांचे में चीन और अफ़गानिस्तान के बीच आर्थिक व्यापारिक सहयोग दिन प्रति दिन घनिष्ठ हो रहा है, इसे लेकर वे बेहद उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि इस घनिष्ठ सहयोग से ने केवल अफ़गानिस्तान और चीन को, बल्कि इस क्षेत्र के अन्य देशों को भी लाभ मिलेगा। चीन का आर्थिक विकास न केवल चीन खुद के लिए, बल्कि अफ़गानिस्तान, यहां तक कि इस क्षेत्र और सारी दुनिया के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।“बेल्ट एंड रोड”एक बहुत बड़ी परियोजना है, जिससे तटीय देश एकजुट होकर सहयोग कर सकेंगे। हम इस नीति का स्वागत करते हैं, आशाप्रद हैं और इसका पूरी तरह समर्थन भी करते हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी