सुधार और खुलेपन से चीन-अफ्रीका सहयोग आगे बढ़ेगा - मिस्री विशेषज्ञ

2018-12-27 15:30:01

मिस्र के न्यूज़ महाब्यूरो के अनुसंधानकर्ता, चीन मुद्दे के सुप्रसिद्ध विशेषज्ञ हुसैन इस्माइल

साल 2018 में चीन में सुधार और खुलेपन की नीति लागू होने की 40वीं वर्षगांठ ही नहीं है, बल्कि चीन-अफ्रीका सहयोग को ज्यादा गहराने का वर्ष भी है। मिस्र के न्यूज़ महाब्यूरो के अनुसंधानकर्ता, चीन मुद्दे के सुप्रसिद्ध विशेषज्ञ हुसैन इस्माइल ने हाल ही में सीआरआई को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि चीन-अफ्रीका सहयोग सुधार और खुलेपन से लाभ मिला है, सुधार और खुलेपन से चीन-अफ्रीका सहयोग आगे बढ़ेगा।

1992 में हुसैन इस्माइल काम के लिए चीन आए और करीब 20 साल चीन में जीवन बिताया। वे खुद सुधार और खुलेपन के बाद चीन को मिले तेज़ विकास के साक्षी बने। उन्होंने कहा कि चीन के 40 सालों में सुधार और खुलेपन ने मिस्र समेत अफ्रीकी देशों को अनुभव मुहैया करवाया है। हाल के वर्षों में चीन ने अफ्रीका में कुछ बड़ी परियोजनाओं के निर्माण में सहायता दी। चीन खुद के विकास के साथ-साथ कुछ अफ्रीकी देशों के लिये स्पष्ट विकास नमूना पेश किया, जिससे इन देशों की मुश्किल स्थिति को दूर करने, शांति और स्थिरता को साकार करने में मददगार सिद्ध होगा।

हुसैन के विचार में चीन सुधार और खुलेपन के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय उत्तरदायित्व सक्रिय रूप से निभाता है। चीन ने वैश्विक विकास के लिए कई हितकारी प्रस्ताव पेश किए, जिनसे विभिन्न देश वैश्विक मूल्य साझा कर सकते हैं और क्षेत्रीय मुठभेड़ के शांतिपूर्ण समाधान, स्थिरता की खोज और अंतरराष्ट्रीय मित्रवत सहयोगी संबंध की स्थापना में भी मददगार सिद्ध होगा।

हुसैन ने कहा कि चीन में सुधार और खुलेपन की नीति के मार्गदर्शन पर चीन-अफ्रीका सहयोग की प्रक्रिया में लगातार तेज़ी आई है। अफ्रीका में दूसरी बड़ी जनसंख्या वाले देश होने के नाते मिस्र यूरोप, एशिया और अफ्रीका को जोड़ता है, जो क्षेत्रीय सहयोग और विकास में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उन्हें आशा है कि अगले चरण के विकास में चीन और मिस्र घनिष्ठ सहयोग और आवाजाही करेंगे, ताकि चीन-अफ्रीका सहयोग में नया अध्याय जोड़ा जा सके।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी