टिप्पणीः चीन में पेटेंट का उल्लंघन करने वाला भारी कीमत चुकाएगा

2018-12-27 17:00:00

चीनी कानून निर्माण संस्था अब पेटेंट कानून के संशोधन प्रस्ताव के मसौदे पर विचार कर रही है। इस मसौदे में कहा गया है कि पेटेंट का उल्लंघन करने वाले को भविष्य में अधिक सख्त सज़ा मिलेगी।

यह वर्ष 1985 में लागू हुए पेटेंट कानून का चौथा संशोधन है। संशोधन प्रस्ताव में पेटेंट अधिकार के उल्लंघन का मुआवज़ा बड़े पैमाने पर बढ़ाया गया है। सर्वोच्चतम मुआवजा पाँच गुणे या 50 लाख युआन होगा। यह स्पष्ट किया गया है कि पेटेंट का उल्लंघन करने वाले को मामले की जांच में संबंधित सबूत पेश करने की जिम्मेदारी होगी। अगर साइबर सेवा प्रदानकर्ता ने उल्लंघन की कार्रवाई समय पर नहीं रोकी, तो उसे अपनी ज़िम्मेदारी भी उठानी होगी। बाहरी डिज़ाइन पेटेंट अधिकार का सुरक्षा काल दस साल से पंद्रह साल तक बढ़ाया जाएगा।

इसके अलावा दंडात्मक मुआवज़ा नये प्रस्ताव में भी शामिल है, जो ध्यानाकर्षक है। वर्तमान चीनी सिविल नुकसान मुआवज़ा व्यवस्था में अधिकांश मामलों में सिर्फ़ आपूर्ति मुआवज़े का प्रयोग का किया जाता है। दंडात्मक मुआवज़े के इस्तेमाल से उल्लंघन करने वाले को अधिक सख्त सज़ा का सामना करना पड़ेगा।

मानव समुदाय नये दौर की वैज्ञानिक औऱ तकनीकी क्रांति और व्यावसायिक परिवर्तन का सामना कर रहा है। बौद्धिक संपदा अधिकार की सुरक्षा और सृजन का संबंध अधिकाधिक घनिष्ठ हो रहा है। चीन में बौद्धिक संपदा अधिकार सुरक्षा की मज़बूती से न सिर्फ़ तेज़ विकास और सृजन होगा बल्कि ये इसके विकास को उत्साहित करने की रणनीतिक मांग भी है जिससे खुलेपन का और विस्तार होगा।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी