अविचल तौर पर वित्तीय सुधार और खुलेपन को आगे बढ़ाएगा चीन

2018-12-31 16:01:00

इस वर्ष चीन में रुपांतर और खुलेपन की 40वीं वर्षगांठ है। इधर 40 सालों में चीनी वित्तीय उद्योगों में कमजोर होने से बढ़कर शक्तिशाली होने तक ऐतिहासिक प्रगतियां हासिल हो चुकी हैं। हाल ही में चीन के वित्तीय विभागों के अनेक पदाधिकारियों ने कहा कि चीन अविचल तौर पर वित्तीय रुपांतर चलाएगा और बैंकिंग, बीमा और पूंजी बाजार आदि में द्वार खोलने वाले कदम उठाए जाएंगे।

आंकड़े बताते हैं कि अब चीनी बैंकिंग व्यवस्था की पूंजी 2600 खरब युआन तक जा पहुंची है जो विश्व में सबसे अधिक है। वर्ष 2017 में बीमा उद्योगों की आयवृत्ति भी 36.6 खरब युआन तक रही। साथ ही चीन का विश्व में तीसरा बड़ा बॉन्ड बाजार भी प्राप्त है। चीनी बैंकिंग व बीमा निगरानी प्रबंधन कमेटी के उपाध्यक्ष वांग चाओ शींग ने कहा कि चीनी वित्तीय व्यवस्थाओं को रुपांतर व खुलेपन के जरिये बाह्य चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। नयी स्थितियों में चीनी वित्तीय उद्योगों को सिलसिलेवार रुपांतर करने के जरिये अपना विकास लक्ष्य साकार करना चाहिये।

चीनी प्रतिभूति नियामक आयोग के उपाध्यक्ष ली चाओ ने कहा कि चीन बाजारीकरण, कानून शासन और अंतर्राष्ट्रीयकरण की दिशा पर डटा रहेगा और पूंजी बाजार का रुपांतर चलाएगा। उन के अनुसार चीन पूंजी बाजार के खुलेपन में तेजी लाएगा और सोशल सिक्योरिटी फंड, पेंशन फंड, बीमा फंड तथा ट्रस्ट फंड के पूंजीनिवेश को प्रोत्साहित किया जाएगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी