चीन ने नये साल से आयात और निर्यात शुल्क में फेरबदल किया

2019-01-01 16:31:01

चीन ने पहली जनवरी से 700 किस्म वाले आयातित मालों के टैरिफ को कम किया। विद्वानों का मानना है कि आयात निर्यात मालों के प्रति टैरिफ में फेरबदल से यह जाहिर है कि चीन खुलेपन का विस्तार करने के लिए कदम उठा रहा है और इस तरह आर्थिक भूमंडलीकरण को बढ़ाने के लिए सकारात्मक योगदान पेश किया जाएगा।

चीन ने 1 जनवरी से कुल 700 किस्म वाले मालों की टैरिफ को कम किया जिनमें कुछ दवा, कपास और फर, मैंगनीज और लिथियम बैटरी आदि शामिल हैं। इनके अलावा एयरोसिन, ऑटोमोबाइल उत्पादन लाइन उपयोगी रोबोट, प्राकृतिक चारा और प्राकृतिक यूरेनियम आदि भी इस सूची में शामिल की जाएंगी।

आंकड़े बताते हैं कि वर्ष 2018 से कुल टैरिफ स्तर घटकर 9.8% से 7.5% तक हो गई। पूरे वर्ष में चीन का आयात बीस खरब अमेरिकी डालर तक जा पहुंचेगा, जो एक नया रिकार्ड है। उधर 1 जनवरी से उर्वरक, एपेटाइट, लौह अयस्क, कोयला टार और लकड़ी का गूदा सहित 94 मालों के निर्यात टैरिफ को भी रद्द किया जाएगा। जिससे चीनी निर्यात वस्तुओं की बाजार प्रतिस्पर्धा शक्ति को बढ़ाया जाएगा।

इस के अलावा चीन आगामी 1 जुलाई से 298 किस्म की सूचना प्रौद्योगिकी उत्पाद वस्तुओं की टैरिफ को भी घटाएगा। टैरिफ की कटौती से चीन और दूसरे देशों के आर्थिक विकास को गति दी जाएगी। पता चला है कि भविष्य में चीन आयात कुल टैरिफ स्तर को अधिक तौर पर कम करेगा और सीमा शुल्क निकासी के स्तर में सुधार लाएगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी