टिप्पणी:किम योंग के पद छोड़ने के बाद विश्व बैंक "अमेरिका प्राथमिकता" के लिए मुश्किल है

2019-01-14 17:01:00

2019 विश्व बैंक के कार्य शुरू होने के पहले दिन गवर्नर किम योंग ने अपने पद से इस्तीफ़ा देने की घोषणा की। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने इसपर बड़ा ध्यान दिया। यह बात बहुत आकस्मिक तरीके से हुई है, जिससे गर्त में गिरे बहुपक्षवाद पर एक छाया डाली गयी।

किम योंग ने अपने पद छोड़ने का कारण नहीं बताया। लेकिन लोगों का मानना है कि यह बात अमेरिकी सरकार से संबंधित है। उनका विचार है कि अमेरिकी सरकार के दबाव ने किम योंग को अपना पद छोड़ने के लिए मजबूर किया।

अमेरिका की वर्तमान सरकार एकपक्षवाद को लागू करती है, कोयला खदान का उत्पादन बहाल करने को बढ़ावा देती है, जलवायु परिवर्तन पर सवाल भी उठाती है। लेकिन किम योंग वैश्वीकरण का समर्थन करते हैं, स्वच्छ ऊर्जा का समर्थन करते हुए वातावरण मामले पर ध्यान देते हैं। उनके नेतृत्व वाले विश्व बैंक ने कोयले की बिजली के लिए वित्तपोषण सहायता नहीं दी। विश्व बैंक के अंदर से देखा जाए, तो ओबामा सरकार के नामांकन और समर्थन से किम योंग के पद का पहला कार्यकाल शुरू हुआ और 2017 में सफलता से पद पर बने रहे। अपने कार्यकाल में उन्होंने विश्व बैंक में कार्मिक सुधार किया। कई आंतरिक कर्मचारियों को इसपर असंतोष है।अपने कार्यकाल में किम योंग ने चीन समेत विकासशील देशों को समर्थन दिया। उन्होंने विकासशील देशों द्वारा पेश किए गए विश्व व्यापार संगठन के सुधार के प्रस्ताव पर सहमति दी, बहुपक्षीय मुक्त व्यापार और विकासशील देशों को सहायता का समर्थन किया। 2014 से किम योंग ने कई बार एशियाई आधारभूत संस्थापन निवेश बैंक, ब्रिक्स देशों के नए विकास बैंक की स्थापना, चीन द्वारा प्रस्तुत "एक पट्टी एक मार्ग" प्रस्ताव का समर्थन किया। मीडिया के साथ इंटरव्यू में उन्होंने चीन में गरीबी में कमी करने के कार्य में मिली उपलब्धियों की भूरी भूरी प्रशंसा भी की। अपने कार्यकाल में किम योंग ने सक्रिय रूप से विश्व बैंक और चीन के बीच सहयोग का विस्तार करने में बढ़ावा दिया।

विश्व बैंक की स्थापना के बाद गवर्नर का पद अमेरिका के व्यक्ति ने सँभाला या इसका नामांकन अमेरिकी राष्ट्रपति ने किया। यह अलिखित अभ्यास है। इसके साथ अमेरिका विश्व बैंक का सबसे बड़ा शेयर होल्डर है। यह उम्मीद की जा सकती है कि अन्य प्रमुख आर्थिक समुदाय अमेरिका द्वारा मनोनीत किए गए विश्व बैंक के गवर्नर के उम्मीदवार की जांच करेंगे। अगर अमेरिका सरकार उम्मीदवार के मामले पर "अमेरिका प्राथमिकता" बैनर पकड़ता है, तो भविष्य में उस के मित्र समेत विश्व बैंक के अन्य सदस्य इस का विरोध करेंगे।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी