​चीन के इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ाई जा रही है हिंदी

2019-01-16 16:01:00

स्कूल का टीचिंग स्टाफ

चीन में लंबे समय से विश्वविद्यालयों में हिंदी सिखाई जा रही है। लेकिन शायद ही आपने सुना या पढ़ा होगा कि चीन में किसी स्कूल या विद्यालय स्तर पर हिंदी का अध्यापन करवाया जा रहा है। पर हकीकत में चीन में मौजूद एक अंतर्राष्ट्रीय स्कूल में हिंदी पढ़ाई जाती है। यह स्कूल स्थित है पूर्वी चीन के चच्यांग प्रांत की शाओशिंग काउंटी में खछयाओ नामक शहर में। शाओशिंग इंटरनेशनल नामक इस स्कूल में हिंदी एक विषय के तौर पर शामिल की गयी है। यह स्कूल केंब्रिज इंटरनेशनल एग्ज़ामिनेशन यू.के. का एक एजुकेशन बोर्ड है, जो केंब्रिज यूनिवर्सिटी से संबंद्ध है।

गौरतलब है कि टेक्सटाइल सिटी के नाम से मशहूर खछ्याओ में बड़ी तादाद में विदेशी लोग रहते हैं, जिनमें भारतीयों की संख्या लगभग तीन-चार हजार है। लेकिन अंतर्राष्ट्रीय स्कूल न होने से उन्हें बच्चों की शिक्षा आदि में बहुत मुश्किल आती थी। इसी जरूरत को देखते हुए साल 2010 में इस स्कूल की शुरूआत हुई। हालांकि शुरू से यहां हिंदी पढ़ाए जाने की योजना थी, लेकिन औपचारिक तौर पर हिंदी की क्लास 2013 से चालू हुई। हिंदी को 8वीं क्लास तक वैकल्पिक विषय के रूप में पढ़ाया जाता है। वर्तमान में इस स्कूल में 65 बच्चे हिंदी सीख रहे हैं। जिनमें तीन चीनी बच्चे भी शामिल हैं, जिन्होंने इस बार प्रवेश लिया है।

शाओशिंग इंटरनेशनल स्कूल के प्रिंसिपल आशीष भट्नागर ने सीआरआई के साथ बातचीत की। जिसके मुख्य अंश हम पेश कर रहे हैं।

दाएं से स्कूल के प्रिंसिपल अशीष भट्नागर, शिक्षिका शैली त्गागी व भारतीय कौंसुलेट के अधिकारी प्रशांत

भट्नागर कहते हैं कि वे इस बात से बहुत खुश हैं कि चीन में स्थित एक अंतर्राष्ट्रीय स्कूल में हिंदी पढ़ाई जा रही है। क्योंकि हिंदी भारतीय संस्कृति की आत्मा है। चीन में हिंदी पढ़ाया जाना हम सभी भारतीयों के लिए गर्व की बात है। मुझे जब शाओशिंग इंटरनेशनल स्कूल के बारे में पता चला कि यहां पर हिंदी का अध्यापन करवाया जा रहा है तो काफी गर्व की अनुभूति हुई। आज यहां पर मैं प्रधानाचार्य के तौर पर काम कर रहा हूं और हमारे स्कूल में हिंदी विभाग है, जहां बच्चे हिंदी सीख सकते हैं। जैसा कि हम जानते हैं कि चीन में विश्वविद्यालय स्तर पर हिंदी तो पढ़ाई जाती है। लेकिन स्कूल लेवल पर हिंदी का अध्यापन मेरे लिए सच में बहुत खुशी की बात है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी