गनी ने तालिबान से की अफगान सरकार से सीधी वार्ता की अपील

2019-01-29 12:31:03

अफगान तालिबान को सशस्त्र विद्रोह की समाप्ति और अफगान सरकार के साथ प्रत्यक्ष वार्ता शुरु करना चाहिये। इसीलिये अफगानिस्तान में दीर्घकालीन संकट समाप्त होगा। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने 28 जनवरी को इस बात की अपील की।

उस दिन राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा कि अफगानिस्तान में स्थिर शांति बहाली के लिये उन्होंने अफगान तालिबान से गंभीर वार्ता शुरु करने की अपील की। साथ ही उन्होंने अपील की कि वे और अफगान जनता शांति की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

अफ़गानिस्तान सुलह पर अमेरिकी सरकार के विशेष प्रतिनिधि ज़ल्मय खलीलज़ाद से वार्ता के बाद गनी ने ये बात कही। पिछले सप्ताह खलीलज़ाद ने तालिबान के प्रतिनिधि से दोहा में वार्ता की। 26 जनवरी को दोनों पक्षों ने इस वार्ता को पूरा किया। 27 जनवरी को खलीलज़ाद ने काबुल की यात्रा की और गनी को अमेरिका और तालिबान के बीच इस वार्ता की परिस्थिति का परिचय दिया।

पता चला है कि अमेरिका और तालिबान दोनों पक्षों के प्रतिनिधियों ने आम सहमति बनाई कि शांति समझौते पर हस्ताक्षर करने से 18 महीनों में विदेशी बलों को अफगानिस्तान से हटना चाहिये। तालिबान ने अमेरिका को प्रतिबद्धता की कि तालिबान अफगानिस्तान को अल कायदा और इस्लामिक स्टेट जैसे उग्रवादी संगठनों द्वारा उपयोग किये जाने से बचाव की गारंटी देगा। रिपोर्ट के अनुसार दोनों पक्षों ने मसौदे को स्वीकार किया है। तालिबान को उम्मीद है कि भविष्य में वे अफ़गान संक्रमणकालीन सरकार में कुछ जगह पर मौजूद होंगे।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी