टिप्पणी: योजना से ब्रिटेन सॉफ्ट ब्रेक्सिट के रास्ते पर चलता रहा

2019-01-30 19:30:00

ब्रिटेश संसद के निचली सदन ने 29 जनवरी को ब्रेक्सिट समझौते से संबंधित सात संशोधनों पर विचार-विमर्श कर मतदान किया। उन में दो पारित हुए, अन्य पाँच को वीटो मिला। वर्तमान की ब्रेक्सिट वार्ता में यूरोपीय संघ ने लगातार ब्रिटेन पर अंदरूनी सहमति के अभाव का आरोप लगाया। पर इस बार मतदान के परिणाम से ब्रेक्सिट का अंतिम लक्ष्य धीरे धीरे स्पष्ट हो गया।

बी योजना नामक इन संशोधनों में दो पारित हुए हैं, उन में एक है समझौते रहित ब्रेक्सिट को छोड़ना, और दूसरा है प्रधानमंत्री थेरेसा मई व यूरोपीय संघ द्वारा पहले प्राप्त ब्रेक्सिट समझौते में आयरलैंड की सीमा के सुनिश्चित कदम से संबंधित धाराओं को रद्द करना।

अस्वीकृत धाराओं में दो पक्षों के मामले शामिल हैं। पहला, अगर प्रधानमंत्री थेरेसा मई के ब्रेक्सिट समझौते को बहुमत नहीं मिला, तो समय से पहले समझौता रहित ब्रेक्सिट के लिये तैयार रहना होगा। दूसरा, अगर 26 फ़रवरी से पहले प्रधानमंत्री का ब्रेक्सिट समझौता पारित न हो सका, तो ब्रेक्सिट का समय स्थगित करना पड़ेगा। लेकिन ये संशोधन पारित नहीं हुए, इससे जाहिर हुआ है कि ब्रिटेन समझौता रहित ब्रेक्सिट नहीं चाहता, और ब्रेक्सिट का समय भी स्थगित नहीं करना चाहता।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी