कृत्रिम बुद्धि के नवाचार में बड़ी वृद्धि हुई : डब्ल्यूआईपीओ

2019-02-01 15:01:01

पिछले कुछ साल में कृत्रिम बुद्धि यानी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आधार वाले अधिक आविष्कार किये गए हैं। वैश्विक स्तर पर कृत्रिम बुद्धि प्रतियोगिता में चीन और अमेरिका सबसे आगे खड़े हैं। संयुक्त राष्ट्र के विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (डब्ल्यूआईपीओ) ने 31 जनवरी को रिपोर्ट जारी की।

रिपोर्ट के अनुसार 1950 के दशक में कृत्रिम बुद्धि पैदा होने से वर्ष 2016 तक दुनिया में विभिन्न देशों ने लगभग 3.4 लाख कृत्रिम बुद्धि से संबंधित आविष्कारों के पेटेंट का आवेदन किया और 16 लाख से अधिक वैज्ञानिक प्रकाशन जारी किये हैं। इनमें से वर्ष 2013 से वर्ष 2016 तक दुनिया में किये गए आविष्कार पेटेंट आवेदन की संख्या कुल संख्या का आधा हिस्सा है। वर्तमान में कृत्रिम बुद्धि के नवाचार में बड़ी वृद्धि हुई।

वर्तमान में अमेरिकी कंपनी आईबीएम में कृत्रिम बुद्धि से संबंधित आविष्कार पेटेंट की संख्या दुनिया में सबसे बड़ी है। उनके पास 8920 संबंधित आविष्कार पेटेंट हैं। आईबीएम के बाद अमेरिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के पास 5930 संबंधित आविष्कार पेटेंट हैं। साथ ही दुनिया में कृत्रिम बुद्धि से संबंधित पेटेंट आवेदन होने वाले शीर्ष 20 शैक्षणिक संस्थानों में से 17 चीनी संस्थान हैं।

डब्ल्यूआईपीओ के महानिदेशक फ्रांसिस गुर्री ने कहा कि विश्व कृत्रिम बुद्धि प्रतियोगिता में चीन और अमेरिका सबसे आगे खड़े हैं। उन्होंने कहा कि चीन में दुनिया का सबसे बड़ा पेटेंट ब्यूरो और संबंधित घरेलू पेटेंट आवेदन की सबसे बड़ी संख्या है।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी