भूटान चीन के बीच व्यावहारिक सहयोग पर ध्यान देता है :लोटे शेरिंग

2019-02-02 19:01:00

भूटान चीन के साथ संबंधों पर काफी ध्यान देता है। भूटान “एक-चीन नीति” का पालन करना चाहता है। साथ ही भूटान चीन के साथ पर्यटन उद्योग समेत द्विपक्षीय व्यावहारिक सहयोग को मजबूत करते हुए मैत्रीपूर्ण परामर्श के जरिये सीमा समस्या का जल्दी समाधान करने का इच्छुक है। 31 जनवरी को भूटान की यात्रा पर गए भारत स्थित चीनी राजदूत लुओ चाओहुई से मुलाकात हुए हुए भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग ने यह बात कही।

लुओ चाओहुई ने कहा कि पिछले वर्ष भूटान में चुनाव हुए और प्रशासन का सही ढंग से स्थानांतरण हुआ। इसलिये भूटान में आर्थिक विकास और सामाजिक स्थिरता जारी रहेगी। चीन सरकार हमेशा दोनों पक्षों के बीच मैत्रीपूर्ण सहयोग संबंधों के विकास पर ध्यान देती है। चीनी सरकार भूटान की नई सरकार के साथ संयुक्त प्रयास करते हुए सभी क्षेत्रों में व्यावहारिक सहयोग को मजबूत करना चाहती है। साथ ही सीमा समस्या की वार्ता प्रक्रिया को बढ़ाते हुए द्विपक्षीय संबंधों का विकास करना चाहती है।

चीनी राजदूत ने भूटान के चौथे राजा जिग्मे सिंगे वांगचुक, पांचवें राजा जिग्मे खेसर नामग्याल वांग्चुक और विदेश मंत्री तांती दोरजी से मुलाकात की। दोनों पक्षों ने द्विपक्षीय संबंधों और आम चिंता वाले मुद्दों पर विचार-विमर्श किया।

(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी