फ्रांस और जर्मनी ने आईएनएफ संधि की रक्षा की अपील की, नाटो ने अमेरिका का समर्थन प्रकट किया

2019-02-03 17:31:00

अमेरिका ने 1 फरवरी को इंटरमीडिएट-रेंज न्यूक्लियर फोर्सेस (आईएनएफ) संधि से हटने की घोषणा की। इसके बाद फ्रांस और जर्मनी ने आईएनएफ संधि की रक्षा करने और बातचीत बनाए रखने की अपील की। नाटो ने अमेरिका के संबंधित तय का समर्थन प्रकट किया।

फ्रांस के विदेश मंत्रालय ने 1 फरवरी की रात वक्तव्य जारी किया और अपील की कि यूरोप और संबंधित पक्षों को पारंपरिक आयुध और परमाणु आयुध के नियंत्रण पर मौजूदा संधि की रक्षा करना चाहिये। कथन के अनुसार अमेरिका के आईएनएफ संधि से हटने के 6 महीने में फ्रांस और नाटो के सदस्य देशों के साथ परामर्श करके रूस से गहराई से संवाद करेंगे।

फ्रांस ने फिर से अपील की कि आयुध नियंत्रण संधि सामरिक स्थिरता की रक्षा के लिये बहुत उपयोगी है। फ्रांस ने प्रोत्साहित किया कि रूस और अमेरिका को रणनीतिक आयुध छंटनी संधि (STrategic Arms Reduction Treaty) को वर्ष 2021 के बाद बढ़ाया जाना और अनुगमन संधि पर परामर्श करना चाहिये।

जर्मनी की प्रधानमंत्री एंजेला मार्केल ने 1 फरवरी को कहा कि अगले 6 महीने में जर्मनी रूस से आईएनएफ संधि पर वार्ता जारी रखेगा। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह वे और जर्मन विदेश मंत्री अगले 6 महीने में संबंधित वार्ता को संभव बनाएंगे।

नाटो ने 1 फरवरी को बयान जारी किया कि नाटो अमेरिका के आईएनएफ संधि से छोड़ने का पूरी तरह समर्थन करता है।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी