टिप्पणीः विदेशी पूंजी के लिए चीन का आकर्षण बरकरार

2019-02-12 19:02:00

चीनी वाणिज्य मंत्रालय ने 12 फरवरी को पेइचिंग में घोषणा की कि वर्ष 2018 में चीन में विदेशी पूंजी से संचालित नये उद्यमों की संख्या 60533 है, जो गतवर्ष से 69.8 प्रतिशत अधिक रही। चीन में 8 खरब 85 अरब 61 करोड़ युआन की विदेशी पूंजी का असली प्रयोग किया गया , जो गतवर्ष से 0.9 प्रतिशत बढ़ा है। पिछले वर्ष विश्व में विदेशी पूंजी का प्रयोग धीमा हुआ था, लेकिन चीन का आंकड़ा बढ़ रहा है। इससे ज़ाहिर है कि चीन का आकर्षण बरकरार है । विदेशी पूंजी के लिए चीन का रंग फीका नहीं हुआ है। 2018 में चीन में विदेशी पूंजी के प्रयोग की तीन बड़ी विशेषताएं हैं।

पहला, विदेशी पूंजी के ढांचे में सुधार हुआ । मात्रा और गुणवत्ता दोनों बढ़ रही है ।आंकड़ों के अनुसार पिछले साल चीनी विनिर्माण उद्योग में इस्तेमाल की गई विदेशी पूंजी का अनुपात 30.6 प्रतिशत पर जा पहुंचा और हाई टेक विनिर्माण उद्योग में इस्तेमाल विदेशी पूंजी 35.1 प्रतिशत बढ़ी ।अमेरिकी कंपनी टेस्ला ने शांगहाई में अपने सुपर कारखाने का निर्माण शुरू किया । जर्मन बीएमडब्ल्यू ने चीन में अतिरिक्त 3 अरब यूरो की पूंजी लगाने की घोषणा की और ब्रिटिश ऑयल कंपनी ने भावी पाँच वर्षों में चीन में एक हज़ार नये पेट्रो स्टेशन बनाने की घोषणा की। मशहूर बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने अपनी ठोस कार्रवाई से चीनी बाज़ार के प्रति उनका विश्वास जताया।

दूसरा मध्य और पश्चिमी चीन में विदेशी पूंजी निवेश में तेज़ी आयी। गतवर्ष पश्चिमी चीन में 64 अरब 60 करोड़ युवान की विदेशी पूंजी का प्रयोग किया गया, जो 18.5 प्रतिशत बढ़ा। मध्य चीन में 64 अरब 80 करोड़ युवान की विदेशी पूंजी का प्रयोग किया गया ,जो 15.4 प्रतिशत बढ़ा।

तीसरा, विसकित आर्थिक समुदायों से आयी पूंजी की संख्या में तेज़ बढ़ोतरी नज़र आयी। वर्ष 2018 चीन में ब्रिटेन ,जर्मनी ,दक्षिण कोरिया ,जापान और अमेरिका का पूंजी निवेश क्रमशः 150.1प्रतिशत ,79.3 प्रतिशत ,24.1 प्रतिशत ,13.6 प्रतिशत और 7.7 प्रतिशत बढ़ा।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी