अमेरिका के अपॉर्चुनिटी मार्स एक्सप्लोरेशन रोवर का मीशन पूरा हुआ

2019-02-14 15:32:00

8 महीने से अधिक प्रयास के बाद अपॉर्चुनिटी मार्स एक्सप्लोरेशन रोवर और पृथ्वी के बीच सिग्नल का नुकसान जारी है और इसमें कोई सुधार नहीं हुआ। इसीलिये अपॉर्चुनिटी मार्स एक्सप्लोरेशन रोवर का मिशन औपचारिक रूप से पूरा हुआ। नासा ने 13 फरवरी को इस बात की घोषणा की।

12 फरवरी की रात नासा के वैज्ञानिकों ने अपॉर्चुनिटी रोवर को अनुदेश भेजने की अंतिम कोशिश की। लेकिन उन्हें कोई जवाब नहीं मिला।

अपॉर्चुनिटी रोवरे परियोजना के प्रबंधक जॉन करास ने 13 फरवरी को नासा में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सभी प्रयास करने के बाद उन के राय में अपॉर्चुनिटी रोवरे का जवाब पाने की उम्मीद काफी अनिश्चित और धुंधली है। इसीलिये उन्होंने अपॉर्चुनिटी रोवर के मिशन की समाप्ति करना तय किया।

पिछले मार्च के अंत में मंगल ग्रह पर भीषण तूफ़ान आया था। सौर संचालित अपॉर्चुनिटी रोवर सूरज की रोशनी अवरुद्ध हो जाने के कारण अपनी बैटरी चार्ज करने में असमर्थ है। इसके चलते उसने काम करना बंद कर दिया है। नासा ने कहा कि पिछले 10 जून से उन्हें ऑपर्च्युनिटी का कोई संकेत नहीं मिला है। पिछले 8 महीने में इस रोवर से संपर्क फिर से बनाने के लिये नासा ने हजारों निर्देश भेजे। लेकिन कोई जवाब या प्रतिक्रिया नहीं मिली।

वर्ष 2004 अपॉर्चुनिटी मार्स एक्सप्लोरेशन रोवर और स्पेरेट मार्स एक्सप्लोरेशन रोवर मंगल ग्रह पर उतरे गये थे। इन दोनों रोवरों में से स्पिरिट ने वर्ष 2011 अपने मिशन की समाप्ति की। अपॉर्चुनिटी ने मंगल ग्रह की सतह पर 15 साल पूरे किए हैं और 45 किलोमीटर की यात्रा की है।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी