भाषाई विविधता को बढ़ावा देने की घोषणा चीन में जारी

2019-02-21 19:31:00

21 फरवरी को यानी "अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस" के उपलक्ष्य में चीनी शिक्षा मंत्रालय तथा संयुक्त राष्ट्र यूनेस्को के चीन में स्थित कार्यालय ने पेइचिंग में संयुक्त रूप से भाषाई विविधता को बढ़ावा देने की य्वे-लू घोषणा जारी। जो संयुक्त राष्ट्र यूनेस्को द्वारा प्रकाशित भाषाई विविधता को बढ़ावा देने की प्रथम स्थायी दस्तावेज़ मानी जाती है।

य्वे-लू घोषणा गत वर्ष के सितंबर में चीन के छांगशा शहर में आयोजित यूनेस्को और चीन द्वारा आयोजित प्रथम विश्व भाषा संसाधन संरक्षण सम्मेलन में जन्म हुई। सम्मेलन में यूनेस्को तथा सम्मेलन में उपस्थित विभिन्न देशों और संस्थानों के प्रतिनिधियों ने इस घोषणा के मसौदे पर विचार विमर्श किया। सम्मेलन के बाद इस मसौदे के संशोधन के बाद दस्तावेज़ का अंतिम संस्करण पैदा हुआ। चीनी शिक्षा मंत्रालय के भाषा प्रबंध विभाग के प्रधान थिएन ली शिन ने कहा कि य्वे-लू घोषणा का महत्व प्राप्त होता है। घोषणा में भाषाओं के संसाधन और विविधता के संरक्षण का विचार केंद्रीत है। इसमें चीन में भाषा संसाधन के संरक्षण के अनुभव, ढंग और मार्ग भी शामिल हैं। विभिन्न पक्ष इस घोषणा के महत्व का उच्च मूल्यांकन करते हैं और इसे एक ऐतिहासिक प्रगति मानते हैं।

आंकड़े बताते हैं कि विश्व में कुल सात हजार से अधिक भाषाएं हैं। लेकिन उनमें 96 प्रतिशत भाषाओं का प्रयोग करने वालों की संख्या विश्व जनसंख्या का 4 प्रतिशत है। संयुक्त राष्ट्र यूनेस्को ने वर्ष 1999 में एक प्रस्ताव पारित कर 21 फरवरी को "अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस" तय करने का फैसला किया। यूनेस्को के चीन स्थित कार्यालय के विशेषज्ञ फ्रेडरिक रसैल-रिवोल्लन ने कहा कि य्वे-लू घोषणा में विश्व भाषाई विविधता के संरक्षण से संबंधित निष्कर्ष शामिल हैं। पहला, भाषाई विविधता का संरक्षण अनवरत विकास के लक्ष्य तक पहुंचने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। दूसरा, भाषाई विविधता के संरक्षण के लिए समाज की व्यापक भागीदारी चाहिये। तीसरा, इस संरक्षण के कार्य को तकनीक के विकास के साथ जोड़ा जाना चाहिये।

चीन के भाषा संरक्षण विशेषज्ञ त्साओ ची यून ने कहा कि चीन सरकार भाषाई विविधता के संरक्षण को महत्व देती है। चीन के आधुनिकीकरण के कार्यक्रम में पारंपरिक भाषाओं और बोलियों का पतन होने की समस्या भी मौजूद है। इसे हल करने के लिए चीन सरकार ने वर्ष 2015 में भाषा संसाधन संरक्षण परियोजना लागू करना शुरू किया, जो विश्व में सबसे बड़ी भाषा संरक्षण परियोजना है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी