तिब्बत में 3 लाख किसान व चरवाहे वन रक्षक बने

2019-02-27 16:31:00

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के वन व ग्रासलैंड ब्यूरो द्वारा 26 फ़रवरी को जारी आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2018 में तिब्बत के गरीब उन्मूलन कार्य में पारिस्थितिक वन रक्षक के 3 लाख 9 हजार पद लागू किये। किसानों व चरवाहों की आय में 1 अरब युआन की वृद्धि हुई।

तिब्बत में पुरातन वन का क्षेत्रफल बहुत बड़ा है। वन की ढांचा भी संपूर्ण है। पारिस्थितिकी व्यवस्था बहुत स्थिर है।

जानकारी के अनुसार वर्ष 2018 में तिब्बत में भूमि की हरियाली कार्रवाई को बढ़ावा दिया गया। नदियों के पास वनीकरण बनाने, खेती की जमीन को वन में बदलने, और भूमि के मरुस्थलीकरण की रोकथाम करने आदि कार्यक्रम लागू किये गये। पूरे साल में 11.2 लाख म्यू का वन क्षेत्र तैयार किया गया। साथ ही 30 करोड़ युआन की पूंजी लगाकर 863 पेड़ रहित गांवों में पेड़ उगाये गये।

वर्ष 2018 में तिब्बत में किसानों व चरवाहों ने वन संसाधन के प्रबंध व रक्षा और पारिस्थितिक निर्माण में भाग लिया। उन की आय में 1.5 अरब युआन की वृद्धि हुई है।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी