डीपीआर की नाभिकीय जांच और निगरानी के लिए तैयार :आईएईए

2019-03-05 16:31:00

अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) खुला स्रोत होने वाली जानकारी और उपग्रह चित्रण के उपयोग से डीपीआरके की परमाणु गतिविधियों को आगे मॉनीटर करेगा। इसके अलावा आईएईए ने संबंधित पक्षों के बीच राजनीतिक समझौते बनाने के बाद डीपीआर की जांच और निगरानी के लिए तैयारी की है। 4 मार्च को वियना में आयोजित आईएईए की समिति के सम्मेलन में आईएईए के महानिदेशक युकिया अमानो ने यह बात कही।

उस दिन परिषद को कार्य रिपोर्ट सुनाने के दौरान युकिया अमानो ने इस फरवरी के अंत तक डीपीआरके के योंगब्योन परमाणु सुविधाओं की परिस्थिति का परिचय दिया। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 में दिसंबर की शुरुआत से आईएईए को 5 मेगावाट क्षमता वाले परमाणु रिएक्टर की किसी गतिविधि का पता नहीं चला। साथ ही उन्होंने संबंधित रेडियोकेमिस्ट्री प्रयोगशाला में गतिविधि फिर से करने के संकेत की खोज नहीं की।

उन्होंने कहा कि आईएईए ने हल्के पानी वाले रिएक्टर के आगे निर्माण के संकेत की खोज की। इसके अलावा आईएईए ने यूरेनियम संवर्धन के लिये अपकेंद्रित्र मशीन चल जारी रखने की खोज की। लेकिन उन्होंने अपील की कि डीपीआरके के परमाणु सुविधाओं के स्थल में प्रवेश नहीं करने के कारण आईएईए संबंधित गतिविधियों के प्रकृति और उद्देश्य की पुष्टि नहीं करता है।

उन्होंने फिर से अपील की कि डीपीआरके को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और आईएईए परिषद के संबंधित संकल्प को पूर्ण रूप से पूरा करना चाहिये। साथ ही डीपीआरके को आईएईए से सहयोग जल्दी ही करना चाहिए और सभी अनिर्णीत समस्याओं का समाधान करना चाहिये।

ईरान परमाणु मुद्दे पर उन्होंने कहा कि ईरान, ईरान परमाणु समझौते के आधार वाली प्रतिबद्धता को पूरा कर रहा है। आईएईए ईरान को आगे मॉनीटर करेगा।

उन्होंने आगे कहा कि वर्तमान तक पूरी दुनिया में 30 देशों के 453 परमाणु रिएक्टर चल रहे हैं। ये रिएक्टर लगभग 400 गीगावाट क्षमता वाली बिजली प्रदान करते हैं। इसके अलावा 18 देशों के 55 रिएक्टर निर्माणाधीन हैं।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी