चीन-रूस संबंध मौजूदा बड़े देशों के बीच संबंध का आदर्श है :वांग यी

2019-03-08 19:01:00

चीन-रूस संबंध मौजूदा बड़े देशों के बीच संबंध का आदर्श बना है। दोनों देश राजनीतिक क्षेत्र में एक दूसरे पर विश्वास करते हैं, अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोग करते हैं और अंतर्राष्ट्रीय मामला क्षेत्र में आपसी समर्थन करते हैं। दोनों देशों के बीच संबंध न केवल दोनों जनता को बड़ा लाभ पहुंचाता है, बल्कि क्षेत्रीय, विश्व शांति और स्थिरता में महत्वपूर्ण योगदान करता है। 8 मार्च को 13वीं एनपीसी के दूसरे सम्मेलन के संवाददाता सम्मेलन में चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने यह बात कही।

वांग यी ने कहा कि वर्ष 2019 चीन और रूस के बीच राजनयिक संबंध की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। इस मौके पर दोनों देशों के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाएगा। उच्च स्तरीय आदान-प्रदान क्षेत्र में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के आमंत्रण पर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पेइचिंग में आयोजित“एक पट्टी एक मार्ग” अतंर्राष्ट्रीय सहयोग पर दूसरे शिखर मंच में भाग लेंगे। आमंत्रण पर राष्ट्रपति शी रूस की राजकीय यात्रा करेंगे। विश्वास है कि दोनों देशों के नेताओं के नेतृत्व में चीन और रूस के बीच संबंध एक नये चरण में प्रवेश कर सकेगा।

पारस्परिक रूप से लाभकारी सहयोगी क्षेत्र में पिछले वर्ष चीन-रूस द्विपक्षीय व्यापार की मात्रा 1 खरब डॉलर को पार कर गयी जिससे एक नया ऐतिहासिक रिकार्ड बना। वर्ष 2019 में दोनों देशों के बीच व्यावहारिक सहयोग का हार्वेस्ट वर्ष होगा। दोनों देशों के बीच व्यावहारिक सहयोग की प्रतिष्ठित परियोजना “एक पाइप लाइन और दो पुल” समाप्त होना है। इस वर्ष के अंत में “एक पाइपलाइन” यानी चीन-रूस प्राकृतिक गैस पाइपलाइन उपयोग में लाएगा। “दो पुल” में से चीन और रूस के बीच सीमा क्षेत्र में प्रथम राजमार्ग पुल राजमार्ग पुल हेइह राजमार्ग पुल के जरिये हाल ही में यातायात शुरू होगा। अन्य पुल यानी चीन और रूस के बीच सीमा क्षेत्र में प्रथम रेलवे पुल थोंगचिआंग रेलवे पुल का निर्माण कार्य पूरा होगा। इसके अलावा वे “एक पट्टी एक मार्ग” और यूरेशियन आर्थिक संघ के बीच जुडने को बढ़ाना जारी रखेंगे। पारंपरिक क्षेत्र में सहयोग को मज़बूत करने के साथ-साथ वे दोनों देशों के बीच उच्च तकनीक, कृषि, ई-कॉमर्स और वित्त आदि क्षेत्रों में सहयोग का विकास करेंगे।

अंतर्राष्ट्रीय मामला क्षेत्र में दुनिया में दो बड़े देश और सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देश के रूप में चीन और रूस से महत्वपूर्ण जिम्मेदारी और मिशन बांधे हुए हैं। लगभग सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर चीन और रूस के बीच निकट संपर्क जारी है। वे समान रुख पर डटे रहते हैं। नये साल में चीन और रूस रणनीतिक सहयोग को आगे मजबूत करेंगे, यूएन चार्टर के उद्देश्य और सिद्धांत की दृढ़ रक्षा करेंगे और अंतर्राष्ट्रीय रणनीतिक सुरक्षा की रक्षा करेंगे। यदि चीन और रूस एक साथ रहें, तो दुनिया में और ज्यादा शांतिपूर्ण, स्थिरता और सुरक्षित माहौल बनेगा।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी