तथाकथिक मानवाधिकार रक्षक वास्तव में मानवाधिकार का विध्वंसक है

2019-03-19 17:01:00

अफ़गानिस्तान की खंडहर अख़बार ओर्बांड के महासंपादक अब्दुल मातिन अमिरी ने हाल ही में संवाददाता से कहा कि कुछ बड़े देश मानवाधिकार की रक्षा करने के बहाने मानवाधिकारों को रौंद रहे हैं।

अमिरी ने कहा कि मानवाधिकारों की रक्षा अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की समान सहमति है। जिसमें कोई शक नहीं है। लेकिन खेद की बात है कि कुछ बड़े देश मानवाधिकार की रक्षा करने के बहाने से अपने विशेष राजनीतिक लक्ष्य को पूरा करने के लिये शोषण से भरी औपनिवेशिक कार्रवाई कर रहे हैं। एक स्पष्ट उदाहरण यह है कि पश्चिमी देशों ने अफ़गानिस्तान, इराक और सीरिया में लड़ाई की। यह कार्रवाई न सिर्फ़ अफ़गानिस्तान जैसे देशों में मानवाधिकार की रक्षा नहीं कर सकती, बल्कि उन देशों में खूनी संघर्ष, बेगुनाहों की हत्या और बेघरों की संख्या को पैदा किया।

साथ ही अमिरी ने इस बात की आलोचना की कि कुछ पश्चिमी देशों ने अपने राजनीतिक लक्ष्य को पूरा करने के लिये मानवाधिकार मामले से चीन पर हमला किया, और चीन में अशांति बनाना चाहा। उन्होंने अपनी चीन यात्रा के आधार पर चीन में जनता के वैध अधिकारों की रक्षा करने की स्थिति का परिचय दिया और चीन को एक बड़े दश होने के नाते अन्य देशों के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने की प्रशंसा भी की। साथ ही चीन ने अपने आर्थिक विकास के साथ विश्व को भी बड़ा लाभ दिया।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी