विश्व के सुशासन के प्रति शी चिनफिंग ने चीन का रुख प्रस्तुत किया

2019-03-27 11:03:00

26 मार्च को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रोन के साथ पेरिस में आयोजित चीन-फ्रांस विश्व शासन मंच के समापन समारोह में भाग लिया। मौके पर शी ने अपने बयान में चीन का रुख देते हुए चार सूत्रीय सुझाव पेश किया।

समारोह में मैक्रोन के अलावा जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल और यूरोपीय संघ की परिषद के अध्यक्ष जीन जंकर ने भी भाग लिया। शी चिनफिंग ने इन नेताओं के साथ बहुपक्षवाद, चीन-यूरोप रणनीतिक साझेदार संबंधों के विकास के प्रति चार पक्षीय वार्ता की और सर्वसम्मिति संपन्न की।

अपने बयान में शी चिनफिंग ने कहा कि वर्तमान विश्व में अभूतपूर्व परिवर्तन सामने आया है। मानव के सामने अनेक चुनौतियां उभरती रही हैं। उन्होंने यह पेश किया कि विभिन्न पक्षों को निष्पक्षता, आपसी समझ, एक दूसरे की मदद और उभय जीत के सिद्धांतों पर डटा रहना चाहिये ताकि विश्व शासन, विश्वास, शांति और विकास के संदर्भ में मौजूद समस्याओं का समाधान किया जाए। वैश्विक शासन के नियमों के लोकतंत्रीकरण तथा संयुक्त राष्ट्र के बहुपक्षवादी सिद्धांत पर डटा रहना चाहिये। वैश्विक और क्षेत्रीय बहुपक्षीय तंत्र की रचनात्मक भूमिका को उजागर कर मानव के समान भाग्य समुदाय का निर्माण किया जाना चाहिये।

शी चिनफिंग ने जोर देते हुए कहा कि सुरक्षा का माहौल अभी भी चिंताजनक है। विभिन्न पक्षों को समान, एकीकृत, सहयोगी और सतत सुरक्षा विचारों के अनुसार मुठभेड़ों का शांतिपूर्ण समाधान करने पर डटा रहना चाहिये। आर्थिक वैश्वीकरण को विश्व अर्थव्यवस्था की वृद्धि को आगे बढ़ाने का इंजन माना जाता है। चीन विश्व व्यापार संगठन के रुपांतर का समर्थन करता है। एक पट्टी एक मार्ग की पहल से अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक सहयोग की अवधारणा और बहुपक्षवाद के अर्थ को समृद्ध बनाया गया है। चीन फ्रांस समेत दूसरे देशों के एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में भागीदारी का स्वागत करता है। चीन और यूरोप को चीन-यूरोप पूंजी निवेश समझौते की वार्ता को आगे बढ़ाना चाहिये।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी