शिनच्यांग से संबंधित अमेरिकी व्यक्ति की कथन मूर्खतापूर्ण – चीन

2019-03-29 10:32:02

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ ने हाल में कुछ चीनी वेवुर जातीय लोगों से मुलाकात के बाद चीन की शिनच्यांग नीति पर आरोप लगाया। इस के प्रति चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंग श्वांग ने 28 मार्च को पेइचिंग में आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि शिनच्यांग से संबंधित कथन मूर्खतापूर्ण है, जो चीन के अंदरूनी मामले में हस्तक्षेप है। चीन को बड़ा असंतोष है और इसका दृढ़ विरोध करता है। अभी चीन ने अमेरिका के समक्ष गंभीरता से मामला उठाया है।

कंग श्वांग ने बल देते हुए कहा कि शिनच्यांग का मामला चीन का अंदरूनी मामला ही है। वर्तमान में शिनच्यांग में सामाजिक स्थिति स्थिर है, विकास स्थिति बेहतर है। विभिन्न जातियों के लोग सामंजस्यपूर्ण रूप से सह-अस्तित्व में रहते हैं, अपने को सुरक्षित महसूस करते हैं और सामाजिक स्थिरता के प्रति संतुष्ट हैं। शिनच्यांग में रोजगार तकनीक के लिए शिक्षा प्रशिक्षण संस्था की स्थापना हुई, जिसका उद्देश्य आतंक विरोधी संघर्ष की जरूरत पर रोकथाम वाला कदम है। संबंधित कदम बिलकुल कानून के अनुसार किया जा रहा है, जिसे विभिन्न जातियों के नागरिकों का तहेदिल से समर्थन मिला और बेहतरीन सामाजिक परिणाम निकला। तथ्यों से जाहिर है कि शिक्षा प्रशिक्षण केंद्र अमेरिकी पश्चिमी पक्ष के तथाकथित“पुनः शिक्षा शिविर”नहीं है। अमेरिका के संबंधित व्यक्ति की शिनच्यांग संबंधी कथन मूर्खतापूर्ण है, जो कि चीन के अंदरूनी मामले पर उद्दंडतापूर्ण दखलंदाजी है। चीन ने कड़ा असंतोष और दृढ़ विरोध व्यक्त किया और अमेरिका के सामने गंभीरता से मामला उठाया।

कंग श्वांग ने यह भी कहा कि अमेरिका ने झूठी बातों के आधार पर चीन सरकार और चीन की शिनच्यांग नीति पर निराधार आरोप लगाया है, जिसे चीन बिल्कुल स्वीकार नहीं करता है। चीन ने एक बार फिर अमेरिका से आग्रह किया कि वह तथ्यों का समादर करते हुए पक्षपात करने से बचे, चीन को बदनाम करने और निराधार आरोप लगाने की कार्यवाही को बंद करे, शिनच्यांग मुद्दे का बहाना बनाकर चीन के अंदरूनी मामले में हस्तक्षेप करने को बंद करे और चीन अमेरिका के बीच आपसी विश्वास और सहयोग के लाभ में काम करे, न कि उसके उलट।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी