फ़ेन्टानिल दवाओं को पूर्ण रूप से नियंत्रित चीन में

2019-04-01 20:31:01

चीनी राष्ट्रीय एंटी-ड्रग्स कमेटी के उप प्रधान, चीन के सार्वजनिक सुरक्षा मंत्रालय के आतंकवाद विरोधी कमिश्नर ल्यू य्वेइ चिन ने 1 अप्रैल को पेइचिंग में कहा कि चीन में फ़ेन्टानिल(Fentanyl) दवाओं के प्रति सख्त नियंत्रण किया जाता है। कानूनी कारखानों में उत्पादित ऐसी दवाओं के प्रति कोई भी भ्रष्टाचार नहीं हुआ। उधर चीन सरकार ने 1 अप्रैल को घोषित किया कि आगामी 1 मई से फ़ेन्टानिल दवाओं को गैर-औषधीय मादक दवाओं और मानसिक दवाओं की नामसूची में शामिल कराया जाएगा।

अमेरिका ने चीन से उसके देश में दाखिल होने वाली फ़ेन्टानिल दवाओं का मुख्य स्रोत होने पर चीन की आलोचना की है। इस सवाल को लेकर ल्यू ने कहा कि चीन के शासन विभाग ने फ़ेन्टानिल दवाओं के गैर-कानूनी उत्पादन और बिक्री से संबंधित कई घटनाओं को बर्खास्त किया। जो चीन और दूसरे देशों के अपराधियों ने एक दूसरे से जुड़े हुए छलावरण के माध्यम से चीन से अमेरिका में बैग भेजा था। लेकिन वह भी बहुत कम था, अमेरिका में फैले फ़ेन्टानिल दवाओं का मुख्य स्रोत नहीं हो सकता है। अमेरिका की आलोचना निराधार है।

ल्यू ने कहा कि अमेरिका में फैली हुई फ़ेन्टानिल दवाओं का कारण अमेरिका खुद है। अमेरिका को अपने अन्दरूनी मामलों का निपटारा करने से फ़ेन्टानिल दवाओं के सवालों का समाधान करना चाहिये। यानी अमेरिका को फ़ेन्टानिल दवाओं के दुरुपयोग के कारण, ड्रग एडिक्ट ग्रुप और मादक पदार्थ चोरी के मार्ग आदि का स्पष्टीकरण करना चाहिये।

चीन दीर्घकाल तक मादक दवाओं से ग्रस्त होने वाला देश था। इसी कारण से चीन मादक पदार्थों के विरूद्ध सख्त नीति अपनाता रहा है। फ़ेन्टानिल दवाओं का एनाल्जेसिक के रूप में प्रयोग किया जाता है। इधर के वर्षों में अमेरिका और कनाडा जैसे देशों में फ़ेन्टानिल दवाओं के आधार से नये प्रकार की मादक दवाएं बनायी गयी हैं। अमेरिका के रोग निवारण और नियंत्रण केंद्र ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि वर्ष 2016 में अमेरिका में कुल 18335 लोग ऐसी दवाओं के प्रयोग से मारे गये। अमेरिका में मादक दवाओं का फैलाव गंभीर सामाजिक समस्या बना है। राष्ट्रपति ट्रम्प ने वर्ष 2017 के अक्तूबर में सार्वजनिक चिकित्सा आपातकाल घोषित किया। उन्होंने कहा कि अमेरिका में मादक दवाओं के प्रयोग से मरने वालों की संख्या गोलीकांड और यातायात दुर्घटनाओं के मृतकों से भी अधिक है। लेकिन अमेरिका में मादक दवाओं का प्रयोग का जो सवाल है, वह अमेरिका में काफी कदम न उठाने की बात भी है। लेकिन अमेरिका ने चीन को फ़ेन्टानिल दवाओं का मुख्य स्रोत बताया है। यह बिल्कुल निराधार है। वास्तव में चीन ने फ़ेन्टानिल दवाओं की रोकथाम करने पर अमेरिका के साथ सहयोग किया है। और तो और नये प्रकार वाली मादक दवाओं का जन्म आम तौर पर अमेरिका और यूरोप जैसे विकसित देशों में ही हुआ है। ऐसी दवाओं के विरूद्ध में अमेरिका को अधिक कदम उठाना चाहिए।

  ( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी