चीन में अभूतपूर्व कर-कटौती नीति लागू की गयी

2019-04-02 16:32:01

चीन ने 1 अप्रैल से मूल्य वर्धित कर यानी वैट की व्यवस्था में सुधार किया। इससे चीनी कारोबारों को दस खरब युआन की कर-वसुली बोझ को कम किया जाएगा। यह नीति अपनाने से देश में स्थिर विकास, उपभोग और रोजगार को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी और चीनी अर्थव्यवस्था के स्थिर संचालन को बढ़ावा दिया जाएगा।

चीनी वैट व्यवस्था के रुपांतर में वैट स्तर को कम करना, विनिर्माण उद्योग की कर दर को 16% से 13% तक गिराना और परिवहन उद्योग की दर को 10% से 9% तक गिराना शामिल है। चीनी वित्त मंत्रालय के कर-वसुली विभाग के प्रधान वांग चैन फ़ैन ने कहा कि हमारा अनुमान है कि कर-वसुली के पैमाने में दस खरब युआन की कटौती की जाएगी। यह पैमाना अभूतपूर्व है।

कर व्यवस्था में सुधार लाने के बाद विनिर्माण उद्योग को सबसे अधिक लाभ मिलेगा। अनेक उद्योगधंधों के नेताओं ने बताया कि कर-वसुली सहज बनने के बाद वे उपकरणों के नवीनीकरण, तकनीकी नवाचार और उन्नयन में अधिक निवेश लगाएंगे। चीनी ओक्स ग्रुप के प्रमुख शेन क्वो ईंग ने कहा कि कर व्यवस्था में सुधार होने के बाद उन के उद्योगधंधे को 34 करोड़ युआन की कटौती की जाएगी और उद्योगधंधा इस रियायत के 60 प्रतिशत भाग का तकनीकी सुधार और सूचनाकरण में इस्तेमाल करेगा।

उधर चीनी उपभोक्ताओं को भी कर वसुली की कटौती से लाभ मिलेगा। 1 अप्रैल से चीन के तेल, बिजली और प्राकृतिक गैस आदि के दाम में गिरावट हुई। चीन में चलने वाले प्रमुख मोटर गाड़ी ग्रुप ने भी मोटर गाड़ी के दाम में कम करने की घोषणा की। चीन के कर-वसुली संघ के उप प्रधान चांग ल्यैन छी का कहना है कि कर-वसुली की कटौती से विनिर्माण उद्योग तथा घरेलू बाजार पर जोर लगाने के लिए कारगर प्रभाव डाला जाएगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी