चीनी प्रधानमंत्री करेंगे यूरोप यात्रा

2019-04-03 17:02:00

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग 8 से 12 अप्रैल तक ब्रुसेल्स में आयोजित 21वीं चीन-यूरोपीय संघ शिखर वार्ता, तथा क्रोएशिया में आयोजित 8वीं चीन-मध्य व पूर्व यूरोप शिखर वार्ता में भाग लेंगे। वे मौके पर क्रोएशिया की यात्रा भी करेंगे। चीन के उप विदेश मंत्री वांग चाओ ने 3 अप्रैल को प्रेस को बताया कि ली खछ्यांग की यात्रा इस वर्ष चीन और यूरोप के बीच एक महत्वपूर्ण आवाजाही है, जिससे चीन द्वारा यूरोप को दिया गया ध्यान साबित है।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने मार्च माह में इटली, मोनाको और फ्रांस की यात्रा की। केवल आधे महीने के बाद प्रधानमंत्री ली खछ्यांग की फिर एक बार यूरोप यात्रा होने वाली है। वांग चाओ का कहना है कि इस साल चीन के सर्वोच्च नेता राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने अपनी अपनी प्रथम यात्रा के लिए यूरोप चुना है। इस का मतलब है कि चीन यूरोप के साथ राजनयिक संबंधों को बहुत महत्व देता है। चीनी विदेश मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री ली खछ्यांग यात्रा के दौरान यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष और यूरोपीय संघ कमेटी के अध्यक्ष से भेंट या वार्ता करेंगे। दोनों पक्ष चीन-यूरोप संबंधों तथा समान हित वाले सवालों पर विचारों का आदान प्रदान करेंगे और ऊर्जा आदि के क्षेत्रों की सहयोग दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर करेंगे।

उधर, 8वीं चीन-मध्य व पूर्व यूरोप शिखर वार्ता 12 अप्रैल को क्रोएशिया में आयोजित होगी जिसमें दोनों पक्ष गत वर्ष की वार्ता के बाद "16 1" सहयोग के मुद्दों पर विचार विमर्श करेंगे और विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग पर नये सहयोग कदम प्रस्तुत करेंगे। वांग चाओ के अनुसार वार्ता में संबंधित दस्तावेज़ जारी की जाएगी। दोनों पक्ष बुनियादी उपकरणों के निर्माण, व्यापार, वित्त, शिक्षा और व्यक्तियों की आवाजाही पर सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे। यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री ली खछ्यांग अलग अलग तौर पर यूरोपीय देशों के साथ विचारों का आदान प्रदान करेंगे।

वांग चाओ ने कहा कि वर्तमान में चीन और यूरोप के बीच संबंधों का अच्छी तरह विकास किया जा रहा है। दोनों पक्षों को आपसी लाभ और उभय जीत वाले सहयोग के संदर्भ में व्यापक समान हित मौजूद हैं। दोनों के बहुपक्षवाद और स्वतंत्र व्यापार के संरक्षण में समान रुख प्राप्त हैं। विश्व शासन में सुधार और विश्व की शांति व स्थिरता की रक्षा करने के बारे में दोनों पक्षों का समान लक्ष्य है। विश्वास है कि प्रधानमंत्री ली खछ्यांग की यात्रा से चीन और यूरोप के बीच संबंधों की स्थिरता और रणनीतिकता और पारस्परिक लाभ को बढ़ाया जाएगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी