आईआरजीसी ने अमेरिका से मांगा जवाब

2019-04-08 17:32:00

ईरान की सरकारी मीडिया इस्लामिक रिपब्लिक न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार ईरान के इस्लामिक क्रांतिकारी गार्ड कोर्प्स ने 7 अप्रैल को बयान जारी कर कहा कि अगर अमेरिका उसे आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल किया, तो वह अमेरिका को जवाब देगा।

कई पश्चिमी मीडिया ने हाल ही में रिपोर्ट दी कि अमेरिका सरकार आईआरजीसी को आतंकी संगठनों में शामिल करना चाहती है। इस पर आईआरजीसी के जनरल कमांडर मोहम्मेद अली जाफ़री ने बयान जारी कर कहा कि अगर अमेरिका सचमुच ऐसा करेगा, और ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा को धमकी देगा, तो आईआरजीसी इसका जवाब देगा। उन्होंने खास तौर पर बल देकर कहा कि अगर अमेरिका आईआरजीसी को आंतकी संगठन मानेगा, तो पश्चिम एशिया में अमेरिकी सेना व सुरक्षा बलों को नुकसान होगा।

गौरतलब है कि आईआरजीसी की स्थापना वर्ष 1979 में हुई। जो ईरान के रक्षा बलों के साथ इस देश की औपचारिक सशस्त्र शक्ति बनी। इसका केंद्रीय कर्तव्य इस्लामिक क्रांतिकारी शासन की रक्षा करना है।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी