चीनः श्रीलंका के साथ एक पट्टी एक मार्ग के ढांचे में यथार्थ सहयोग मजबूत करेगा

2019-04-09 20:01:01

चीन श्रीलंका के साथ एक पट्टी एक मार्ग के ढांचे में यथार्थ सहयोग को मजबूत करेगा, ताकि श्रीलंकाई जनता को यथार्थ लाभ दिया जा सके। यह बात चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 9 अप्रैल को पेइचिंग में कही।

श्रीलंका की दक्षिणी रेल मार्ग की परियोजना 8 अप्रैल को औपचारिक रूप से पूरी हो गयी। यह एक पट्टी एक मार्ग के पहल में चीनी कारोबार द्वारा श्रीलंका में निर्मित पहली रेल मार्ग की परियोजना है। यह 1948 में स्वतंत्रता के बाद श्रीलंका में निर्मित पहला नया रेल मार्ग भी है। इस रेल मार्ग के खुलने से श्रीलंका के स्थानीय आर्थिक व सामाजिक विकास को बढ़ावा दिया जाएगा।

साथ ही चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 9 अप्रैल को पेइचिंग में यह भी कहा कि संबंधित देश खास तौर पर बड़े देशों को मध्य पूर्व क्षेत्र की शांति व स्थिरता के हित में कार्य करना चाहिए, ताकि मध्य पूर्व की स्थिति को और तीव्र होने से बचाया जा सके।

8 अप्रैल को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने वक्तव्य जारी कर घोषणा की कि अमेरिका ईरानी इस्लामी क्रांतिकारी टुकड़ी को विदेशी आतंकवादी संगठन मानेगा। यह पहली बार है कि अमेरिका ने किसी एक देश की सैन्य शक्ति को विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित किया। इस के बदले में ईरान ने अमेरिकी केंद्रीय कमांड मुख्यालय की सैन्य शक्ति को भी आतंकवादी संगठन घोषित किया। इस की चर्चा में चीनी प्रवक्ता लू खांग ने कहा कि चीन का हमेशा मानना रहा है कि देशों के बीच संबंधों का निपटारा करते समय संयुक्त राष्ट्र चार्टर और सिद्धांत पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी नियमों का पालन करना चाहिए, जबकि प्रभुत्ववाद नहीं करना चाहिए। आशा है कि बड़े देश मध्य पूर्व क्षेत्र की शांति व स्थिरता के लाभ में और अधिक काम करेंगे और मध्य पूर्व स्थिति को और तनावपूर्ण होने से बचाने के कदम उठाएंगे।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी